Advertisement

ब्लैक फंगस का इलाज महाराष्ट्र में निःशुल्क किया जाएगा: स्वास्थ्य मंत्री

इस बीमारी की दवा महंगी होने के कारण, महात्मा फुले जनारोग्य योजना के तहत 1000 रोगियों का नि: शुल्क इलाज किया जाएगा।

ब्लैक फंगस का इलाज महाराष्ट्र में निःशुल्क किया जाएगा: स्वास्थ्य मंत्री
SHARES

राज्य के कुछ जिलों में, कई कोरोनो वायरस (coronavirus) मरीज अब ब्लैक फंगस (black fungus) यानी म्युकरमायकोसीस से पीड़ित होने की खबर सामने आ रही है।

ऐसे मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, राज्य सरकार (Maharashtra government) ने एक जागरूकता अभियान शुरू किया है। जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (rajesh tope) ने कहा कि, महात्मा फुले जनारोग्य योजना के तहत म्युकरमायकोसीस के मरीजों का मुफ्त में इलाज किया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने जालना में मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए यह घोषणा की। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि, जिन कोरोना रोगियों में अनियंत्रित उनमें ही यह म्युकरमायकोसीस रोग के लक्षण दिखाई दे रहे हैं।

राजेश टोपे ने कहा कि, इस बीमारी में नाक और होंठ के पास काले धब्बे पाए जाते हैं। यदि इसका तत्काल उपचार नहीं किया जाता है, तो यह रोग श्वसन प्रणाली, मस्तिष्क और आंखों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। इस बीमारी के शीघ्र निदान के लिये जरूरी है कि, आम लोगों जागरूकता पैदा की जाए। इस बीमारी की दवा महंगी होने के कारण, महात्मा फुले जनारोग्य योजना के तहत 1000 रोगियों का नि: शुल्क इलाज किया जाएगा।

टोपे ने कहा कि, ब्लैक फंगस के लिए आने वाली इंजेक्शन भी ऊंचे दरों पर बेची जा रही है। इसलिए, इसकी कीमत जल्द ही तय की जाएगी और इसे नियंत्रण में लाया जाएगा, 

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा, कोरोना के रोगियों को इस बीमारी से नहीं डरना चाहिए और मधुमेह वाले लोगों को इसे नियंत्रण में रखना चाहिए।  स्वास्थ्य मंत्री ने डॉक्टरों की सलाह पर व्यायाम, उचित आहार और दवा लेने की भी अपील की है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें