बीडीडी की निविदा में भ्रष्टाचार?

 Lower Parel
बीडीडी की निविदा में भ्रष्टाचार?
बीडीडी की निविदा में भ्रष्टाचार?
See all

बीडीडी चाल के पुनर्विकास प्रकल्प की निविदा में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार होने का आरोप अखिल बीडीडी चाल रहिवासी महासंघ के महासचिव और कांग्रेस प्रवक्ता राजू वाघमारे ने लगाया है। उन्होंने संपूर्ण निविदा प्रक्रिया को संशयास्पद बताते इसकी जांच कराने की मांग उठाई।

वाघमारे का कहना है कि नायगांव का ठेका शापुरजी-पालनजी को व ना. म. जोशी का ठेका एल एण्ड टी को दिया गया है। इस दौरान बीडीडी के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर म्हाडा ने निविदा मांगी, लेकिन निविदा प्रक्रिया को प्रतिसाद नही मिलने से म्हाडा ने निविदा की सीमा बढ़ाई। यह सीमा बढाए जाने पर दो निविदा दाखिल की गई और म्हाडा ने दोनों कंपनियों को एक-एक ठेका दे दिया। जबकी निविदा प्रक्रिया में आधिकारिक कंपनियों में कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है। लेकिन यहां ऐसा नहीं हुआ। म्हाडा ने नियमों को ताक पर रखकर मनमानी तरीके से निविदा दिया है।

वहीं अखिल बीडीडी चाल भाडेकरू हक्क संरक्षण समिति के महासचिव किरण माने का आरोप है कि दोनों ठेकेदारों ने अमानत रकम नहीं भरा, इसके बावजूद जल्दबाजी में इन्हें ठेका दे दिया गया। जिसके विरोध में शनिवार को सरकार और म्हाडा को काला झंडा दिखाकर विरोध करने का इशारा भी माने ने दिया है।

Loading Comments