शिवडी के पुनर्विकास का काम जल्द होगा शुरु; मुंबई पोर्ट ट्रस्ट ने तैयार किया प्रस्ताव

वरली, नायगांव और ना.म.जोशी मार्ग स्थित बीडीडी चॉल का पुनर्विकास अखिरकार शुरु होने की कगार पर आ गया है। बीते कुछ सालों से यहां के रहिवासी टॉवर व बड़े घरों में रहने के लिए जा रहे थे।

SHARE

वरली, नायगांव और ना.म.जोशी मार्ग स्थित बीडीडी चॉल का पुनर्विकास अखिरकार शुरु होने की कगार पर आ गया है। बीते कुछ सालों से यहां के रहिवासी टॉवर व बड़े घरों में रहने के लिए जा रहे थे। तभी से इस बीडीडी चॉल का सिर्फ एक समूह शिवडी बीडीडी चॉल के पुनर्विकास के लिए रुका हुआ था। पर अब इस चॉल के पुनर्विकास का काम जल्द शुरु हो सकता है।


प्रस्ताव तैयार

शिवडी बीडीडी चॉल के पुनर्विकास के लिए मुंबई पोर्ट ट्रस्ट आगे आया है। पुनर्विकास के लिएमुंबई पोर्ट ट्रस्ट ने सविस्तर प्रस्ताव को तैयार किया है। इस प्रस्ताव को महिना भर के भीतर केंद्र सरकार के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। इस तरह की जानकारी मुंबई पोर्ट ट्रस्ट अध्यक्ष संजय भाटीया ने मुंबई लाइव को दी है।


म्हाडा पर जिम्मेदारी

वरली, ना.म.जोशी, नायगांव और शिवडी स्थित बीडीडी चॉल की इमारत धोकादायक हैं। इन इमारों को बने हुए लगभग 100 साल पूरे हो रहे हैं। जिसके चलते अब इसका पुनर्विकास जल्द ही होने वाला है। वैसे तो 20-25 साल पहले ही बीडीडी चॉल के पुनर्विकास का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया था, पर अभी तक यह काम ठंडे बस्ते में ही पड़ा था।


100 करोड़ का खर्च

यह प्रस्ताव फिलहाल शिपिंग मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। जिसके बाद केंद्रीय नगरविकास खाते में जाएगा। इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद शिवडी के पुनर्विकास का मार्ग खुलने के बाद यह प्रस्ताव राज्य सरकारक के पास जाएगा। प्रस्ताव राज्य सरकार के पास से आने के बाद पुनर्विकास म्हाडा के काम का जल्द निर्णय मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के द्वारा लिया जाएगा। इस काम में 100 करोड़ खर्च होने वाले हैं।


संबंधित विषय