Advertisement

महालक्ष्मी मेट्रो स्टेशन का अंडरग्राउंडिंग चरण पूरा

साइंस म्यूजियम मेट्रो स्टेशन और महालक्ष्मी मेट्रो स्टेशन के बीच 1117.5 मीटर अंडरग्राउंड 257 दिनों में बनकर तैयार हो गया है।

महालक्ष्मी मेट्रो स्टेशन का अंडरग्राउंडिंग चरण पूरा
SHARES

मुंबई मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (Mumbai metro rail corporation) ने कोलाबा-बांद्रा-सीप्ज मेट्रो-3 (metro 3 colaba bandra seepz)  रूट पर महालक्ष्मी मेट्रो स्टेशन पर अंडरग्राउंडिंग का 39वां चरण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है।  साइंस म्यूजियम मेट्रो स्टेशन और महालक्ष्मी मेट्रो स्टेशन के बीच 1117.5 मीटर अंडरग्राउंड 257 दिनों में बनकर तैयार हो गया है।

रॉबिन्स टनल बोरिंग मशीन तानसा -2 ने कुल 745 रिंगों के साथ भूमिगत चरण पूरा किया।  विज्ञान संग्रहालय और महालक्ष्मी स्टेशन के बीच अंडरग्राउंडिंग चुनौतीपूर्ण थी। इस चरण में पश्चिम रेलवे के महालक्ष्मी और लोअर परेल स्टेशनों के बीच 80 साल से अधिक पुराने भवनों के नीचे और सीधे रेलवे लाइन के नीचे अंडरग्राउंडिंग की गई है।

मेट्रो-3 के पैकेज-3 में पांच स्टेशन हैं और यह लाइन का सबसे लंबा चरण है।  इनमें मुंबई सेंट्रल, महालक्ष्मी, साइंस म्यूजियम, आचार्य अत्रे चौक और वर्ली मेट्रो स्टेशन शामिल हैं।

33.5 किमी लंबे मेट्रो 3 रूटों के लिए लगभग 55 किमी अंडरग्राउंडिंग की जा रही है।  यह अत्याधुनिक टीबीएम मशीन द्वारा किया जा रहा है।  33.5 किमी रूट में 17 टीबीएम भूमिगत छोड़े गए हैं।  ये टीबीएम मशीनें अपना काम कर रही हैं।

अब तक अंडरग्राउंडिंग के तीन चरण पूरे हो चुके हैं। मेट्रो-3 परियोजना की अब तक कुल 52.6 किमी या 96.5 प्रतिशत भूमिगतिंग पूरी हो चुकी है।

यह भी पढ़े- तानसा, मोदकसागर झील फुल

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें