कभी ये गलियां थी मुंबई की जान...

मुंबई - भले ही आपने मुंबई को पिछलें कई सालों से देखा हो। लेकिन मुंबई की एक अलग ही पहचान है जो इन दिनों खोती जा रही है। ग्रांट रोड के फॉकलैंड रोर्ड पर कई पुराने थिएटर हैं , जो अब जर्जर हालात में हैं। 1920 में इस इलाके में काफी कलाकार इस जगह पर अपनी कला का प्रदर्शन करने आते थे। लेकिन बीतते समय के साथ अब ये इलाका मुंबई के रेडलाइट एरिया में बदल गया है।

इस इलाके में कई थिएटर हैं जो अब अपनी चमक खोते जा रहे हैं। न्यू रोशन, मोती, अलंकार और एल्फ्रेड थिएटर जैसे थिएटर कभी यहां की शान हुआ करते थे। एल्फ्रेड थिएटर में अभी भी हाथ से बने पोस्टर लगाए जाते हैं। फिलहाल इन थिएटरों में सी ग्रेड की फिल्में चलती हैं और जैसे तैसे ये अपना खर्चा चला रहे हैं।

25 साल की मरम्मत के बाद हाल ही में खुला रॉयल ओपरा हाउस , भारत का सबसे पुराना थिएटर माना जाता है। 1932 से लेकर यहां 1991 तक हर हफ्ते फिल्म प्रदर्शित की गई। रॉयल ओपरा हाउस का उद्घाटन 1911 में किंग जॉर्ज 5 के द्वारा की गई । 1991 में इस थिएटर में आखिरी फिल्म को प्रदर्शित किया गया। 1991 में इसे बंद कर दिया गया। कई सालों की मरम्मत के बाद अक्टूबर 2016 में इस थिएटर को फिर से खोला गया।

Loading Comments