नफीसा कपाड़िया के किचन में बोहरी जायका

कफ परेड - लसुनी कीमा, पतरा फिश, रेड मसाला में मटन चॉप, चिकन पुलाव, पाया सूप ये देखकर किसी के मुंह में भी पानी आ जाए। यह व्यंजन आप किसी भी रेस्तरां के मेनू में नहीं पाएंगे, लेकिन नफीसा कपाड़िया की रसोई में जरूर मिलेगा। कपाड़िया ने पारंपरिक बोहरी खाना पकाने में विशेषज्ञता हासिल की है, 1500 रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से हर रविवार को भोजन प्रेमियों के लिए दावत उपलब्ध करवाती हैं। मुंबई जैसे बड़े शहरों में काफी लोग अन्य शहरों से आते हैं और वे विभिन्न व्यंजनों का स्वाद चाहते हैं। उनके लिए यहां खास इंतजाम है। लोग इन वेराइटीज का भरपूर आनंद ले सकते हैं। मुंबई में बोहरी, पारसी, पूर्व भारतीयों जैसी विभिन्न संस्कृतियों के लोग रहते हैं जिनके लिए यहां उनकी पसंद का खाना उपलब्ध करवाया जाता है। इसकी यही खासियत इसे दूसरे रेस्तरां से अलग बनाती है।

Loading Comments