मुंबई भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष मोहित भारतीय विलफुल डिफॉल्टर!

मोहित ने अपनी सफाई में एक पत्र जारी कर लिखा है कि वो कंपनी में पार्टनर नहीं बल्कि कर्ज में पर्सनल गारंटर थे ,उन्होंने पिछले 2 सालों में अपने हिस्से का 76 करोड़ रुपये लौटा भी दिया है ।

SHARE

भारतीय जनता युवा मोर्चा , मुंबई के अध्यक्ष मोहित भारतीय को बैंक ऑफ बड़ौदा ने विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है । इतना ही नहीं बैंक ने उनकी और जितेंद्र कपूर की तस्वीर लगाकर उन्हें कसूरवार कर्जदार घोषित करते हुए उनकी तस्वीर बतौर डिफॉल्टर अखबार में प्रकाशित की है । बैंक का कहना है की उन्होने  अयान ऑर्नामेंट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने बैंक से कर्ज लिया था लेकिन बाद में कर्ज लौटाया नहीं ।

मोहित भारतीय ने बैंक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने की चेतावनी दी है । इतना ही नहीं मोहित ने अपनी सफाई में एक पत्र जारी कर लिखा है कि वो कंपनी में पार्टनर नहीं बल्कि कर्ज में पर्सनल गारंटर थे । उन्होंने पिछले सालों में अपने हिस्से का 76 करोड़ रुपये लौटा भी दिया है।गौरतलब है कि अयान ऑर्नामेंट डायमंड और जेमस्टोन के कटिंग और पॉलिशिंग के कारोबार में है। कंपनी का गठन 2010 में किया गया था। 

क्या लिखा है पत्र में

मोहित ने पत्र में लिखा, '2014 के इस मामले में लोअर कोर्ट से बैंक ऑफ बड़ौदा पहले मुकदमा हार चुकी है जो ऑन द रिकॉर्ड है । बैंक ऑफ बड़ौदा ने जिस कंपनी का जिक्र करते हुए मेरी फोटो प्रकाशित की है, मैं उस कंपनी का प्रमोटर नहीं था, केवल पर्सनल गारंटर था । भारतीय ने अपने पत्र में आगे लिखा है कि पर्सनल गारंटर के तौर पर मैंने दो साल में 76 करोड़ रुपए की अपने हिस्से की राशि चुका दी । इस मामले में कोर्ट का फैसला मेरे पक्ष में आया है । अगर बैंक साबित कर दे कि मेरे ऊपर कोई पैसा बकाया है तो मैं पाई पाई चुका दूंगा।'

चुनाव भी लड़ चुके है मोहित

साल 2014 के विधानसभा चुनाव में 350 करोड़ रुपये की संपत्त‍ि के साथ वह सबसे अमीर कैंडिडेट थे।वह शिवसेना कैंडिडेट से चुनाव हार गए थे। मोहित भारतीय का मूल नाम मोहित कम्बोज था, उन्होंने इस साल जनवरी में ही अपना सरनेम बदला है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें