SHARE

बीजेपी से अपने रिश्तों को देखते हुए लोकसभा-विधानसभा चुनावों में शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने कार्यकर्ताओ को 'एकला चलो रे' का मन्त्र दिया, तो वहीं शिवसेना से भाजपा गठबंधन के लिए लगातार प्रयास कर रही है। लेकिन शिवसेना की तरफ से कोई सकारात्मक नतीजा नहीं मिलने पर अब बीजेपी ने कड़ा रुख अपनाते हुए शिवसेना को गठबंधन के फैसले पर फाइनल निर्णय करने का अल्टीमेटम दिया है।


शिवसेना का रुख क्या होगा?

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कहा है कि शिवसेना को गठबंधन का निर्णय जल्दी से करना चाहिए, या फिर महाराष्ट्र में एक साथ लोकसभा-विधानसभा के चुनाव होने चाहिए। अब अगर लोकसभा-विधानसभा के चुनाव एक साथ होते हैं तो इससे शिवसेना को समस्या आ सकती है।

तैयारी में मिलेगी मदद 

यद्यपि शिवसेना-भाजपा गठबंधन सत्ता में है, लेकिन उनके आपसी रिश्ते कैसे हैं यह हर कोई जानता है। इसी तरह से उद्धव ठाकरे द्वारा बार बार मोदी सहित बीजेपी पर हमला करने के बाद भी शाह समेत भाजपा नेता गठबंधन की कोशिश में हैं। अब चूंकि अगले साल चुनाव होने हैं तो बीजेपी चाहती है कि  गठबंधन जितनी जल्दी हो जाये तैयारी करने में उतना ही अच्छा होगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें