मुंबई में महापौर पद के लिए शिव सेना के नेताओं में ही चल है प्रतिस्पर्धा


SHARE

 मुंबई के महापौर पद का चुनाव 22 नवंबर को होने वाला है। इस बार यह पोस्ट सामान्य वर्ग (open category) के लिए आरक्षित है। इस बात की प्रबल आशंका है कि संख्या बल के अनुसार इस बार भी शिव सेना (shiv sena) का ही महापौर (mayor)बनेगा। लेकिन इस पोस्ट को लेकर शिव सेना के कुछ नेताओं के बीच ही प्रतिस्पर्धा चालू है। इस बार महापौर की रेस में यशवंत जाधव, किशोरी पेडणेकर, मंगेश सातमकर और आशीष चेंबूरकर जैसे सीनियर नगरसेवक हैं।

कौन किस नंबर पर
बताया जाता है कि इस रेस में सबसे आगे यशवंत जाधव का नाम चल रहा है। यशवंत जाधव बीएमसी की स्थाई समिति के अध्यक्ष भी हैं साथ ही 'मातोश्री' में अंदर तक उनकी पहुंच है। इसके बाद आशिष चेंबूरकर का नंबर आता है, फिर किशोरी पेडणेकर और पोरोव महापौर विशाखा राऊत का नंबर। 

पढ़ें: महापौर और उपमहापौर को तीन महीने का सेवा विस्तार

बीएमसी के चुनाव में शिव सेना के कुल 84 नगरसेवक चुन कर आये थे। लेकिन एमएनएस (MNS) के सात में छह नगरसेवक भी शिव सेना में शामिल होने के बाद शिव सेना के कुल नगर सेवक की संख्या 90 हो गयी साथ ही अन्य 2 निर्दलीय नगर सेवक के समर्थन से शिव सेना के कुल 92 नगर सेवक हो गए। इस लिहाज से बीएमसी में सबसे बड़ी शिव सेना ही है। शिव सेना के बाद बीजेपी 82 नगरसेवकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन इतनी भी बड़ी नहीं है कि शिव सेना की राह में रोड़े अटका सके।

बीएमसी में कुल नगर सेवकों की संख्या इस प्रकार है-

कुल सीट: 288 

  • शिवसेना : 84+6+2 
  • भाजपा : 82 
  • काँग्रेस : 30 
  • एनसीपी : 8 
  • समाजवादी पार्टी :  6 
  • MIM : 2 
  • मनसे : 1 
संबंधित विषय
ताजा ख़बरें