Advertisement

कोरोना वायरस - राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी एक महीने की सैलरी देने मुख्यमंत्री राहत कोष में

राज्यपाल के साथ-साथ राज्यपाल कार्यालय में काम करने वाले सभी कर्मचारी अपने 1 महीने की सैलरी मुख्यमंत्री राहत कोष में देंगे।

कोरोना वायरस - राज्यपाल  भगत सिंह कोश्यारी एक महीने की सैलरी देने मुख्यमंत्री राहत कोष में
SHARES
Advertisement

राज्य में कोरोनावायरस से प्रभावित मरीजों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है । गुरुवार तक राज्य में कोरोनावायरस से प्रभावित मरीजों की संख्या 169 तक पहुंच गई। कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या पर काबू पाने के लिए सरकार ने पूरे राज्य में कर्फ्यू लगा दिया है आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पूरे देश में कर्फ्यू लगाया है  यह कर्फ्यू 3 हफ्ते के लिए चलेगा हालांकि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से अपील की है कि वह जरा भी ना घबराए और घरों के बाहर ना निकले। राज्य में सिर्फ अत्यावश्यक सेवा के कर्मचारियों को ही बाहर निकलने की इजाजत मिली हुई है।


 इसके साथ ही राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने लोगों से अपील की है कि वह जरूरी सामानों का भंडार करके न रखें बल्कि जरूरत हो उतना ही सामान रखें। राज्य में खाने के सामान की कोई कमी नहीं है और सभी जरूरी आवश्यक चीजों का भरपूर भंडार राज्य के पास है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि आने वाले कुछ दिन के लिए काफी अहम हो सकते है



सरकार के साथ-साथ कुछ निजी कंपनियों ने भी कोरोनावायरस से लड़ने के लिए सरकार का हाथ बताया हुआ है रिलायंस कंपनी ने सेवन हिल्स हॉस्पिटल में कोरोनावायरस प्रभावित लोगों के लिए एक अस्पताल बनाया है तो वहीं कई और निजी कंपनियां भी प्रधानमंत्री राहत राहत कोष और मुख्यमंत्री राहत कोष में पैसे जमा कर रही है।


 इसी ओर कदम बढ़ाते हुए राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अपना 1 महीने की सैलरी मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला किया है राज्यपाल के साथ-साथ राज्यपाल कार्यालय में काम करने वाले सभी कर्मचारी अपने 1 महीने की सैलरी मुख्यमंत्री राहत कोष में देंगे।

संबंधित विषय
Advertisement