मुंबई में बढ़ सकता है लॉकडाउन?

विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि यदि राज्य में लॉकडाउन को हटाया जाता है, तो सरकार द्वारा उठाए गए सभी उपाय विफल हो जाएंगे।

मुंबई में बढ़ सकता है लॉकडाउन?
SHARES


कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन घोषित किया गया है। एक तरफ जहां, लॉकडाउन के बाद भी कोरोना रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है तो दूसरी तरफ सभी उद्योगधंदे भी बंद हैं और और देश वित्तीय संकटों से जूझ रहा है वो अलग। अब जबकि ऐसी स्थिति में लॉकडाउन हटाने की बात की जा रही है तो ऐसे संकेत हैं कि महाराष्ट्र में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई जा सकती है।  विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि यदि राज्य में लॉकडाउन को हटाया जाता है, तो सरकार द्वारा उठाए गए सभी उपाय विफल हो जाएंगे।

महाराष्ट्र में कोरोनो वायरस से ग्रसित लोगों की संख्या अब बढ़कर 537 के ऊपर हो गई है।  राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, शुक्रवार की रात तक कोरोना रोगियों की संख्या 490 थी। लेकिन एक ही दिन में लगभग 47 रोगीयों की संख्या में वृद्धि हुई।जिसमें से 43 मुंबई और ठाणे के थे। देश मे कोरोना पीड़ितों की संख्या महाराष्ट्र में सबसे अधिक है।

चूंकि मुंबई में भी कोरोना के अब 306 मरीज सामने आ चुके हैं और 10 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, पीड़ितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसे देखते हुए एहतियात के तौर पर अब तक मुंबई में 190 परिसरों को सील कर दिया गया है, जिसमें इमारत भी शामिल हैं

अभी हाल ही में मुंबई से लॉकडाउन को हटाने बाबत जब पत्रकारों द्वारा राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, सरकार को उम्मीद है कि 14 अप्रैल तक राज्य में कोरोना 

 रोगियों की संख्या कम हो जाएगी।  लेकिन रोगियों की संख्या अगर बढ़ती है तो फिर लॉकडाउन की अवधि को कुछ हफ्तों तक बढ़ाया भी जा सकता है। विशेष रूप से मुंबई जैसे शहरों में, कोरोना को फैलने से रोकना एक मुश्किलभरा काम है।

 इसलिए, लॉकडाउन को समाप्त करने का निर्णय पूरी तरह से विचार के साथ लिया जाना चाहिए।  मैं व्यक्तिगत रूप से मुंबई और राज्य के अन्य शहरी क्षेत्रों में लॉकडाउन प्रतिबंधों को पूरी तरह से उठाए जाने के पक्ष में नहीं हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की।  इस चर्चा में, प्रधान मंत्री ने राज्य सरकार से लॉकडाउन को हटाने संबंधी सुझाव मांगें।

लेकिन विशेषज्ञों का भी मत है कि एकाएक लॉकडाउन को हटाना सही नहीं होगा। इससे अचानक से लोग सड़कों पर उतर जाएंगे और भीड़ में वृद्धि होगी जिसके बाद कोरोना का खतरा बढ़ सकता है।

संबंधित विषय