Advertisement

स्कूल शुरू करने को लेकर मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग को दिया स्थिति का जायजा लेने का निर्देश

केंद्र सरकार ने दो दिन पहले स्कूलों को शुरू करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। साथ ही यह राज्यों को तय करने के लिए कहा गया है कि, वे स्थिती और परिस्थिति को देखते हुए स्कूलों को शुरू करना है या नहीं।

स्कूल शुरू करने को लेकर मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग को दिया स्थिति का जायजा लेने का निर्देश
SHARES

केंद्र सरकार (central government)के शिक्षा विभाग ने स्कूलों को शुरू करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं और इन दिशानिर्देशों के अनुसार, देश भर के स्कूल 15 अक्टूबर से चरणों में खोले जाएंगे। इस निर्देश के बाद महाराष्ट्र (maharashtra) के तमाम अभिभावकों और छात्रों की नजर इस बात पर है कि, क्या महाराष्ट्र में भी स्कूल शुरू होंगे? इस मुद्दे को लेकर कैबिनेट की बैठक में चर्चा हुई। इस चर्चा के बाद, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav Thackeray) ने इस बाबत महत्वपूर्ण निर्देश दिए।

राज्य मंत्रिमंडल की बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने की। इस बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई और महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए गए। साथ ही इस मुद्दे पर भी चर्चा हुई कि, कब स्कूल शुरू होंगे, जो छात्रों और अभिभावकों के लिए महत्वपूर्ण है। इसका कारण यह है कि केंद्र सरकार ने दो दिन पहले स्कूलों को शुरू करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। साथ ही यह राज्यों को तय करने के लिए कहा गया है कि, वे स्थिती और परिस्थिति को देखते हुए स्कूलों को शुरू करना है या नहीं। इस पर निर्णय ले सकते हैं। इसके अलावा बच्चों को स्कूल भेजने के लिए माता-पिता की भी मंजूरी आवश्यक होनी चाहिए।

हालांकि, राज्य में कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामले को देखते हुए 15 अक्टूबर से स्कूल शुरू करने के बजाय दिवाली के बाद स्कूल खोले जाने का निर्णय लेने का निर्णय लिया गया था। साथ ही ऑनलाइन लर्निंग (online learning) चल रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्कूल शिक्षा विभाग को स्थिति का जायजा लेने का निर्देश दिया।

केंद्र के दिशानिर्देशों के अनुसार, पहले बड़ी क्लास और फिर छोटी क्लास शुरू किए जाएंगे। राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को भी अपने स्तर पर स्कूल शुरू करने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SoP) तैयार करने को कहा गया है। इस मानक अभ्यास में छात्रों के स्वास्थ्य, सार्वजनिक स्वच्छता, सुरक्षित सामाजिक दूरी का ध्यान रखना राज्य / केंद्र शासित प्रदेशों की जिम्मेदारी होगी।

इस बीच, राज्य के उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत (uday samant) ने कहा था कि महाराष्ट्र में कोई भी कॉलेज तब तक शुरू नहीं किया जाएगा, जब तक कि कोरोना (Covid-19) की स्थिति हल नहीं हो जाती।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement