राज ठाकरे पर कस सकता है ईडी का शिकंजा

कोहिनूर सीटीएनएल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निशाने पर आ गई है

SHARE

मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने  जहां एक पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की तो वही दूसरी ओर ईडी का शिकंजा अब धीरे धीरे उनपर कसता जा रहा है।  राज ठाकरे और वरिष्ठ शिवसेना नेता व पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के बेटे उन्मेष जोशी की कंपनी कोहिनूर सीटीएनएल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निशाने पर आ गई है। ठाकरे और जोशी की कंपनी ने दादर के शिवाजी पार्क इलाके में कोहिनूर स्क्वायर नामक बहुमंजिला टॉवर बनाया है।

इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज (आईएल एंड एफएस) ने जोशी और ठाकरे की कंपनी को निवेश और कर्ज मिला कर 8,690 करोड़ रुपए दिए हैं। हालांकी आईएल एंड एफएस की ओर से दिए गए कर्ज और निवेश से जुड़े मामले की जांच ईडी कर रहा है। राज ठाकरे पर अब धीरे धीरे  प्रवर्तन निदेशालय अपना शिकंजा कस रहा है।  


हालांकी सुत्रों का कहना है की राज ठाकरे को ईडी जांच के लिए बुला सकती है और उन्हे पुछताछ के नाम पर घंटो बैठा कर रख सकती है। ED ने कोहिनूर CTNL के मुख्य वित्त अधिकारी का बयान दर्ज किया है और अब जल्द ही राज ठाकरे को भी पुछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।  

यह भी पढ़े- कोलकाता में ममता बनर्जी से मिले राज ठाकरे, ममता ने साथ आने का दिया आश्वासन

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें