सीएम के द्वार पर घर के लिए अनशन

 Pali Hill
सीएम के द्वार पर घर के लिए अनशन

मुंबई - मिल मजदूर यूनियन के नेता दत्ता इस्वलकर ने कहा है कि मिल मजदूरों के घर का मुद्दा अभी खत्म नहीं हुआ है। इस्वलकर ने कहा है कि मिल की जगह पर मजदूरों को घर देने की घोषणा पिछली सरकार ने की थी। जिसके लिए म्हाडा में तीन लाख मजदूरों ने नामांकन भरा था। लेकिन इतने लोगों को घर नहीं दे पाने में असमर्थता जताते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने एमएमआरडीए द्वारा पनवेल में बनाए गए 13 हजार तैयार घरों को मजदूरों को देने की बात कही थी। इन तैयार घरों का वितरण अगस्त में करने की घोषणा भाजपा-शिवसेना सरकार ने की थी। लेकिन अभीतक इस मामले में कोई प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। जिसकी सरकार को याद दिलाने के लिए 18 अक्टूबर को मुख्यमंत्री के घर के बाहर 100 मिल मजदूर अनशन करने जा रहे हैं। इस्वलकर का कहना है कि सिर्फ मुंबई में ही 30 हजार मिल मजदूरों को घर मिल सकता है। इसके लिए सरकार को देर नहीं करनी चाहिए।

Loading Comments