राम मंदिर नहीं तो सरकार नहीं: उद्धव ठाकरे

उद्धव ने आगे कहा, मेरा कोई छुपा एजेंडा नहीं है। देशवासियों की भावना की वजह से मैं यहां आया हूं। पूरे विश्व के हिंदू राम मंदिर कब बनेगा ये जानना चाहते हैं। चुनाव के दौरान सब लोग राम राम करते हैं और बाद में आराम करते हैं। महीने, साल गुजरते जा रहे हैं, पीढ़ियां जा रही हैं लेकिन राम लला का मंदिर नहीं बना।

SHARE

अयोध्या के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बीजेपी और मोदी सरकार पर सीधा निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि अगर सरकार अयोध्या में मंदिर बनाने में नाकाम रही तो वह दोबारा दोबारा सत्ता में नहीं आ पाएंगे।

संवाददाता सम्मेलन में यह पूछे जाने पर कि सरकार अगर मंदिर नहीं बनाती तो वो क्या करेंगे? इस पर उद्धव ने कहा, पहले सरकार को इस पर काम तो करने दो। यह सरकार मजबूत है अगर ये नहीं बनाएगी तो कौन बनाएगा। अगर यह सरकार मंदिर नहीं बनाएगी तो मंदिर तो जरूर बनेगा लेकिन शायद यह सरकार नहीं रहेगी।

उद्धव ने आगे कहा, मेरा कोई छुपा एजेंडा नहीं है। देशवासियों की भावना की वजह से मैं यहां आया हूं। पूरे विश्व के हिंदू राम मंदिर कब बनेगा ये जानना चाहते हैं। चुनाव के दौरान सब लोग राम राम करते हैं और बाद में आराम करते हैं। महीने, साल गुजरते जा रहे हैं, पीढ़ियां जा रही हैं लेकिन राम लला का मंदिर नहीं बना।

उद्धव ने कहा, आज जब दर्शन के लिए गया तो वहां एक अलग अनुभव हुआ। वहां कुछ तो चेतना जरूर है। दुख इस बात का है कि मैं मंदिर जा रहा था लेकिन लग रहा था कि जेल जा रहा हूं। सरकार ने कहा था कि मंदिर बनाने के लिए संविधान के दायरे में सभी संभावनाओं को तलाशा जाएगा। पिछले चार साल किन-किन संभावनाओं की तलाश की गई और एक भी ऐसी संभावना नहीं मिली कि राम मंदिर के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ा जाए। हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़ न करें।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें