‘सनातन’ संस्था पर तत्काल लगे प्रतिबंध, कांग्रेस सांसद की मांग

सांसद ने आरोप लगाया है कि डॉ. नरेंद्र दाभोलकर और काॅ. गोविंद पानसरे की हत्या के पीछे सनातन संस्था का ही हाथ है।

SHARE


कांग्रेस के सांसद हुसैन दलवई ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से सनातन संस्था पर तत्काल प्रतिबंध लगाने की मांग की है सांसद ने आरोप लगाया है कि डॉ. नरेंद्र दाभोलकर और काॅ. गोविंद पानसरे की हत्या के पीछे सनातन संस्था का ही हाथ है    

एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए दलवई ने कहा कि, सनातन संस्था महाराष्ट्र में आतंकवाद फैलाने का काम करती है। नई सरकार एक प्रगतिशील सरकार है जो महाराष्ट्र के विकास और राज्य में शांति के लिए काम कर रही है। शिवसेना ने कभी भी 'सनातन' संगठन का समर्थन नहीं किया। यह हमारी गलती थी कि हमने 'गठबंधन सरकार' के दौरान इस संगठन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की, लेकिन अब ऐसे संस्थानों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

पढ़ें: ATS का खुलासा , मुंबई-पुणे में आतंकी हमले कराना चाहती थी सनातन संस्था

उन्होंने आगे कहा कि, डॉ. दाभोलकर, कॉ.पानसरे जैसे लोगों की हत्या की जा रही है। यदि आप सनातन संस्था के लोगों के बयानों की जांच करेंगे तो यह स्पष्ट हो जाता है कि हत्या में कौन शामिल था? मालेगांव बम धमाके की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बीजेपी की तरफ से सांसद बनाया जाता है। दलवई ने आगे कहा कि जो भी जाति-धर्म के जरिये आतंकवाद फैलाते हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। 

भीमा कोरेगांव मामले पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने दलवई ने कहा, संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोटे भीमा कोरेगांव की हिंसा में शामिल थे। एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने पिछले दिनों भिड़े का पक्ष लिया था। लेकिन मैं उन्हें अभी बताऊंगा कि उन्हें अपना पक्ष नहीं रखना चाहिए, बल्कि उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

पढ़ें: सनातन संस्था ने नवाब मलिक को 10 करोड़ रूपये मानहानि का भेजा नोटिस


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें