शिवसेना का गढ़ कहे जानेवाले कल्याण में क्या इस बार श्रीकांत शिंदे की राह है आसान?


SHARE

श्रीकांत शिंदे भारत की सोलहवीं लोक सभा के सांसद हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्होने शिवसेना के टिकट पर लड़ते हुए अपनी जीत दर्ज की थी। श्रीकांत शिंदे, शिवसेना के वरिष्ठ नेता , विधायक और राज्य सरकार में मंंत्री एकनाथ शिंदे के बेटे है। श्रीकांत ने एम.बी.बी.एस., एम.एस. (ऑर्थोपेडिक्स) की पढ़ाई की है। पाटिल मेडिकल कॉलेज, नवी मुंबई कल्याण लोकसभा सीट वर्ष 2009 में नए परिसीमन के बाद यह नया लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अस्तित्व में आया। इस लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में अंबरनाथ, उल्हासनगर, कल्याण पूर्व, डोंबिवली, कल्याण ग्रामीण और मुंब्रा-कलवा विधानसभा क्षेत्र हैं।

क्या है स्थानिय समस्याएं

इस संसदीय क्षेत्र के उल्हासनगर व कल्याण पूर्व में पानी की सबसे बड़ी समस्या है। उल्हासनगर में परिवहन की जटिल समस्या है।कल्याण पूर्व में सड़क पानी जैसी तमाम समस्याएं कायम हैं। कल्याण लोकसभा में बड़ा अस्पताल न होने से भी नागरिकों को मुंबई मुंह देखना पड़ता है।

पांच साल का रिपोर्ट कॉर्ड


32 साल के डॉ. श्रीकांत शिंदे की लोकसभा में उपस्थिति 83 प्रतिशत रही। उन्होंने सदन में 930 प्रश्न उठाए और आठ प्राइवेट बिल भी पेश किए। शिंदे ने अपनी विकास निधि के 25 करोड़ रुपये का पूरा उपयोग किया। रेलवे स्टेशनों पर एकनाथ शिंदे के फंड से ज्यादा काम किया गया है। उन्हे साफ-सफाई के लिए पुरस्कृत भी किया गया। अंबरनाथ के बाद चीखलोली रेलवे स्टेशन को मंजूर कराया।


सन 2014 के कल्याण लोकसभा चुनाव नतीजे


डॉ श्रीकांत शिंदे शिवसेना 4,40, 892
आनंद परांजपे राकांपा 1,90,143

प्रमोद पाटील मनसे 1,22,349

क्या है मतदाताओं की संख्या
कल्याण क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 19 लाख 27 हजार 608 है। इस क्षेत्र में पुरुष मतदाताओं की संख्या 10 लाख 40 हजार 793, महिला मतदाताओं की संख्या 8 लाख 86 हजार 631 और तृतीय पंथी मतदाताओं की संख्या 184 है।


संबंधित विषय