क्या चुनाव 5 साल से कम समय में होना चाहिए, इस पर क्या कहना है मुंबईकरों का?


SHARE

भारत में हर पांच साल में एक बार चुनाव होते हैं। जबकि नेताओ द्वारा इन पाँच वर्षों में किये जाने वाले वादे और योजनाएँ केवल आश्वासन बन कर रह जाते हैं लेकिन यह कार्य कार्यान्वित नहीं होता है। इससे आम लोगों में शिकायत और निराशा घर कर जाती है। तो क्या चुनाव और भी कम समय में होना चाहिए ताकि झूठ बोलने वालों को कम समय में ही बदला जा सके। इस प्रश्न को लेकर मुंबई लाइव आम लोगों के बीच गया। उनका क्या कहना है आप भी सुनिए।

पढ़ें: बोल मुंबई: राज ठाकरे को चुनाव लड़ना चाहिए, इस प्रश्न पर क्या है लोगों की रा

इस प्रश्न का जवाब देते हुए एक स्थानीय निवासी ने बताया कि 5 साल की अवधि सही है क्योंकि नेताओं को अपने निर्वाचन क्षेत्र में पकड़ बनाने, नीतियों को लागू करने और नीति के प्रभावों को देखने के लिए समय लगता है। हालांकि इस प्रश्न के जवाब में यह भी सामने आया कि कई लोगों का कहना था कि विधानसभा, लोकसभा और नगर निगम के चुनाव एक साथ होने चाहिए।

पढ़ें: बोल मुंबई: मुंबई शहर की समस्या पर क्या कहा लोगों ने?

एक अन्य निवासी ने जवाब देते हुए कहा कि चुनावों की आवृत्ति बढ़ाई जानी चाहिए। उन्होंने आगे यह भी सुझाव दिया कि सरकार को मतदान अनिवार्य करना चाहिए क्योंकि लोग मतदान के दिन पिकनिक मनाने जाते हैं। लोगों को स्वस्थ लोकतंत्र के लिए मतदान के अपने अधिकार का उपयोग करना चाहिए और यदि कोई ऐसा नहीं करता है तो उसे अधिकारियों द्वारा जुर्माना लगाया जाना चाहिए।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें