कांग्रेस-एनसीपी का सनसनीखेज दावा, बीजेपी हमारे विधायकों को फोन कर तोड़ने की कर रही है कोशिश

इन्होने आरोप लगाया कि अगर कोई पार्टी सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करती है तो राज्यपाल राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा सकते हैं, जिससे राज्य में और भी राजनीतिक घमासान मच सकता है।

SHARE

 

कांग्रेस नेता विजय वडेट्टीवार और एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा राज्य में अपनी सत्ता बनाने के लिए कांग्रेस और एनसीपी के विधायकों को तोड़ने की कोशिश करते हुए उन्हें फोन कर रही है।

एनसीपी-कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि विधानसभा चुनाव के नतीजे आये हुए 13 दिन बीत चुके हैं बावजूद इसके महाराष्ट्र में बीजेपी-शिव सेना को जना देश मिलने के बाद भी ये दोनों नई सरकार का गठन अभी तक नहीं कर पाये है। वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 8 नवंबर को आधी रात के बाद समाप्त हो जाएगा।

इन्होने आरोप लगाया कि अगर कोई पार्टी सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करती है तो राज्यपाल राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा सकते हैं, जिससे राज्य में और भी राजनीतिक घमासान मच सकता है। शिव सेना द्वारा बीजेपी का ऑफर नहीं स्वीकार करने के बाद अब बीजेपी जोड़ तोड़ की कोशिश करने लगी है।

पढ़ें: शिव सेना को हॉर्स ट्रेडिंग का डर, अपने सभी विधायकों को होटल में किया शिफ्ट

विजय वडेट्टीवार ने कहा, हमारे कुछ विधायकों को बीजेपी की तरफ से फोन किये गये। इस समय फोन करने का मतलब है कि उन्हें लालच भी दिया जा सकता है या फिर धमकाया भी जा सकता है। बीजेपी के साथ 25 साल तक रहने वाली शिव सेना भी यह आशंका जता चुकी है। लेकिन बीजेपी की जोड़ तोड़ की यह राजनीति अब सफल नहीं होगी।

एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा, जितना भी जोड़ तोड़ होना था वह चुनाव के पहले ही हो चुका है। जनता द्वारा चुन कर आए हुए सभी विधायक पूरी तरह से विश्वसनीय हैं। इसलिए एनसीपी का कोई भी विधायक अब नहीं टूटेगा। इसके अलावा यदि कोई अन्य पार्टी हमारे विधायकों को तोड़ने की कोशिश करती है तो सभी दल एक साथ आएंगे और उस विधायक को हराएंगे।

पढ़ें: उद्धव ठाकरे के सवाल पर बीजेपी चुप!

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें