महाराष्ट्र बंद: मुंबई में बंद बेअसर, बेस्ट की बस में हुआ पथराव

इस बंद को एमआईएम, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी, आदिवासी अस्मिता, रिपब्लिकन ऑटो एसोसिएशन, नागपुर फेरीवाला शॉप एसोसिएशन, मुस्लिम काउंसिल, शिवशाही ट्रेडर्स एसोसिएशन सहित अन्य संगठनों ने अपना समर्थन दिया है।

SHARE

 

केंद्र सरकार द्वारा लागू किये गये नागरिक संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ वंचित बहुजन अघाड़ी (BVA) के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने शुक्रवार को महाराष्ट्र बंद की घोषणा की है। इस महाराष्ट्र बंद को 25 संगठनों ने भी अपना समर्थन दिया है। बंद के दौरान कोई अप्रिय घटना न हो, मुंबई पुलिस जगह-जगह तैनात है।

प्रकाश आंबेडकर ने दावा किया है कि इस हड़ताल का समर्थन कर रहे 150 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उन्होंने आगे कहा, देश भर में एनआरसी (NRC) आणि सीएए (CAA)को लेकर काफी गुस्सा है। सरकार जबरन यह कानून लागू करना चाहती है। जीएसटी, नोटबंदी के कारण अर्थव्यस्था वैसे ही डाउन है। इसीलिए इन सबके विरोध में हमने इस हड़ताल की घोषणा की है।

अगर कुछेक घटनाओं को छोड़ दें तो इस बंद का मुंबई में कुछ खास असर नहीं है। सुबह चेंबूर इलाके में एक बेस्ट की बस में पत्थर फेंके जाने की घटना हुई, जिससे ड्राइवर घायल हो गया।

हालांकि मुंबई में पुलिस ने सुरक्मुंषा के पुख्बता इंतजाम किये हैं। रेलवे सहित कई सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस तैनात की गयी है। उपद्रवियों से निपटने के लिए बज्र वाहन भी बुलाये गये हैं। स्टैंडबाय में भी पुलिस को रखा गया है।

इसके पहले प्रकाश आंबेडकर ने कार्यकर्ताओ से अपील की थी कि बंद के दौरान किसी को भी परेशानी नहीं होनी चाहिए, आम और व्यापारी परेशान न हों साथ ही सरकारी या निजी संपत्ति को नुकसान न पहुंचे। 

इस बंद को एमआईएम, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी, आदिवासी अस्मिता, रिपब्लिकन ऑटो एसोसिएशन, नागपुर फेरीवाला शॉप एसोसिएशन, मुस्लिम काउंसिल, शिवशाही ट्रेडर्स एसोसिएशन सहित अन्य संगठनों ने अपना  समर्थन दिया है। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें