मुराद हो पूरी, मंत्री जी घूम रहे नंगे पैर...!

 Mantralaya
मुराद हो पूरी, मंत्री जी घूम रहे नंगे पैर...!

आप ने हमारे देश के राजनीतिक नेताओं और आध्यात्मिक नेताओं के बीच घनिष्ठ संबंधों या गठजोड़ के बारे में सुना या पढ़ा होगा। लगभग सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने अपने अपने आध्यात्मिक गुरु बनाए हुए हैं और ये गुरु अपने शक्तिशाली शिष्यों पर काफी प्रभाव भी डालते हैं। ये राजनीतिक नेता अपने आध्यात्मिक गुरुओं के एक एक निर्देशों का पालन भी करते हैं।

महाराष्ट्र के एक ऐसे राजनीतिक नेता जो कि राज्य मंत्रिमंडल में मंत्री हैं, मंत्रालय के गलियारों में बिना चप्पल या जूते पहने उन्हें नंगे पैर घूमते देखा जा रहा है। कथित तौर पर उनके आध्यात्मिक गुरु ने आदेश दिया है कि वे डेढ़ महीनों के लिए नंगे पैर घुमे।

इसके पीछे की जो कहानी है वो यह कि मंत्री जी खुद को तंबाकू की लत से छुड़ाने की कसम खाई थी लेकिन वह इसे पूरा नहीं कर सके। इस बार, उन्होंने अपने गुरु के निर्देशों को गंभीरता से पालन करने का निर्णय लिया है। शायद नंगे पैर पर चलना उसी निर्देशों में से एक निर्देश हो।

Loading Comments