SHARE

कांग्रेस से बगावत कर नयी पार्टी बनाने वाले और बीजेपी को सपोर्ट करने वाले नारायण राणे की हताशा बढ़ती जा रही है। बुधवार को वे सीएम देवेंद्र फडणवीस से मिले। उन्होंने सीएम से राजभवन में लगभग 15 मिनट तक गुप्त चर्चा की। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मुलाकात में राणे ने खुद को मंत्रिमंडल में शामिल करने की बात कही।

बुधवार शाम सवा छह बजे के लगभग जब राजभवन में U-19 विश्वकप अपनी कप्तानी में भारत को ख़िताब दिलाने वाले मुंबई के पृथ्वी शॉ का सम्मान किया जा रहा था तो वहां पर राजयपाल के अलावा फडणवीस भी उपास्थित थे। राणे ने सीएम से वहीं पर मुलाकात की।

राणे जब कांग्रेस से बाहर हुए हैं तब उन्होंने महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी बनाया और बीजेपी को समर्थन दिया। उस समय बीजेपी की तरफ से उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल करने का आश्वासन दिया गया था। यही नहीं 2017 में उन्हें मंत्री पद के लिए शपथ दिलाने की भी बात कही जा रही थी, लेकिन 2017 बीत जाने के बाद भी अभी तक राणे से किया वादा बीजेपी ने पूरा नहीं किया।  

राजनीति के जानकार यह बताते हैं कि बीजेपी सरकार शिवसेना के समर्थन से चल रही है। शिवसेना और राणे की काफी पुरानी दुश्मनी है।इसलिए बीजेपी राणे को मंत्रिमंडल में शामिल कर शिवसेना की नाराजगी मोल मोल लेना नहीं चाहती, इसीलिए राणे को प्रतीक्षा सूची में रखा गया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें