Advertisement

मूक मोर्चा के बाद अब मुख बंद आंदोलन

मराठा अरक्षणा के संबंध में सरकार ने आश्वासन को पूरा नहीं किया है, जिसके चलते आज मराठा आंदोलनकर्ताओं ने महाराष्ट्र बंद का आहवान किया है।

मूक मोर्चा के बाद अब मुख बंद आंदोलन
SHARES

दो साल पहले 9 अगस्त को क्रांती दिवस पर मराठा क्रांती मोर्चा का उदय हुआ था। इस मराठा समाज ने राज्य भर में 58 मोर्चा शांति पूर्वक निकाल कर राज्य व देश में नया आदर्श स्थापित किया था। आज यह समाज सरकार तक अपनी मांग पहुंचाने के लिए बांद्रा जिला अधिकारी कार्यालय पर 11 से 2 बजे मुख बंद आंदोलन करने वाले हैं।


शांति पूर्वक बंद

मुंबई, नवी मुबई ,ठाणे छोड़कर राज्य भर में बंद की आहवान किया गया है। शांती और अहिंसा के साथ बंद का निर्णय मराठा क्रांती मोर्चा समन्वयक समिति ने राज्यस्तरीय बैठक में लिया है।


भ्रम की स्थिति

मराठा अरक्षणा के संबंध में सरकार ने आश्वासन को पूरा नहीं किया है, जिसके चलते आज मराठा आंदोलनकर्ताओं ने महाराष्ट्र बंद का आहवान किया है। उच्च न्यायालय द्वारा आंदोलन न करने की अपील के बाद इस बंद को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है।

वीरेंद्र पवार

हमने देश में 58 शांति पूर्वक मोर्च निकालकर आदर्श स्थापित किया है, फिर भी सरकार हमारी मांगों को पूरा नहीं कर रही है। इसीलिए हमने इस महाराष्ट्र बंद का आगाज किया है।


Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement