ED का साइनबोर्ड मराठी में लिखो, मनसे ने बीएमसी को लिखा पत्र

बीएमसी के कानून के मुताबिक साइनबोर्ड में मराठी में नाम लिखा होना ज़रूरी है। लेकिन ईडी के साइनबोर्ड पर सिर्फ़ अंग्रेज़ी और हिन्दी में नाम लिखा है।

SHARE

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने सोमवार को बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) को एक पत्र लिख, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के ऑफिस की नेमप्लेट को मराठी भाषा में लिखे जाने की मांग की। एमएनएस की तरफ से यह पत्र बीएमसी के 'ए' वार्ड कार्यालय को लिखा गया है। आपको बता दें कि पिछले शुक्रवार को महाराष्ट्र नव निर्माण सेना ने ईडी दफ्तर के बाहर लगे साइन बोर्ड पर आपत्ति जताई थी। बीएमसी के कानून के मुताबिक साइनबोर्ड में मराठी में नाम लिखा होना ज़रूरी है। लेकिन ईडी के साइनबोर्ड पर सिर्फ़ अंग्रेज़ी और हिन्दी में नाम लिखा है।

पढ़ें: राज ठाकरे ने कार्यकर्ताओं से की अपील, ED के बाहर जमा न हों

मनसे नेता अरविंद गावड़े ने यह पत्र बीएमसी अधिकारी के साथ-साथ ED और जिला कलेक्टर को भी भेजा है।इस पत्र में मनसे ने मांग की है कि, ED को महाराष्ट्र शॉप्स एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत नियमों का पालन करना चाहिए जो बताता है कि किसी भी दुकान या नेमप्लेट की स्थापना मराठी में होनी चाहिए।'

इस बारे में पार्टी के नेता संदीप देशपांडे ने कहा था कि, 'महाराष्ट्र शॉप्स एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट कहता है कि स्थानीय भाषाओं का सम्मान किया जाना चाहिए।हम ईडी को यह बताना चाहते हैं कि वो इस एक्ट के नियम को नहीं मान रहे हैं।ईडी चाहता है कि सभी लोग क़ानून का पालन करें, तो वो दूसरों को उपदेश देने से पहले खुद इसे माने।'

गौरतलब है कि कोहिनूर इमारत मामले में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) प्रमुख राज ठाकरे से ईडी ने गुरुवार को लगभग 9 घंटे तक पूछताछ की थी, जिसका मनसे ने काफी विरोध किया था।

पढ़ें: क्या सही में बीजेपी विपक्ष के नेताओं पर बदले की कार्रवाई कर रही है?

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें