राज ने आखिर क्यों कहा..? यह हमारी अंतिम हार थी

माटुंगा - मनसे के 11 वें स्थापना दिवस के अवसर पर मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने मनसे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि महापालिका का रिजल्ट मतलब पैसे की जीत हुयी और काम हार गया। चुनाव कैसे लड़ना है यह आपने (जनता) ने मुझे सीखा दिया। अब आगे जीतने के लिए मैं भी वही करूंगा जो-जो अन्य पार्टियों ने किया। अब बहुत हो गया, यह हमारी आखिरी हार है, अब आगे से हम नहीं हारेंगे। राज ठाकरे षड्मुखानंद हॉल में बोल रहे थे। राज ठाकरे ने आगे कहा कि जीतने के लिए उन्होंने जो दांव खेला अब वही दांव मैं भी खेलूंगा। राज ने आगे कहा कि महापालिका के रिजल्ट के इस परिणाम में पैसे की जीत हुई और काम की हार। राज ठाकरे ने अपना भाषण शुरू करने से पहले कहा कि आज का भाषण अब तक सबसे छोटा भाषण होगा।
मनसे कार्यकर्ताओं से खचाखच भरे षड्मुखानंद हॉल में राज ने संबोधित करते हुए कहा कि मैंने काम करके गलती किया। राज ने कहा कि चुनाव प्रचार में सत्ताधारी पक्ष ने किस हद तक जाकर प्रचार किया यह सभी ने देखा। नासिक में मैंने काम किया, जनता के सामने गया लेकिन फिर भी हमारी हार हुई, मैंने काम करके गलती किया।
मनसे प्रमुख ने आगे कहा कि कैसे लड़ना है आपने सिखा दिया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने मनसे को वोट दिया उनका धन्यवाद, और जिन्होंने वोट नहीं दिया उन्होंने हमें सीखा दिया कि चुनाव कैसे लड़ना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि अब तक आप मुझसे मिलने आते थे आज मैं आप लोगों से मिलने आया हूं। यह हमारी अंतिम हार है इसके बाद से हम हार का मुंह नहीं देखेंगे। आप जीतोगे, राज ने कार्यकर्ताओ को आदेश दिया कि आप लोग 2019 में होने वाले चुनाव की तयारी कीजिये।



Loading Comments