मनसे 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी

19 मार्च को मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे की सभा भी है, इसीलिए अब सभी इसी इंतजार में है कि उस जनसभा में राज ठाकरे चुनाव को लेकर अपनी क्या भूमिका स्पष्ट करते हैं।

SHARE

चुनाव आयोग ने जब से चुनाव के तारीख की घोषणा की है तब से हर पार्टियां चुनावी तयारी में जुट गयी है। यहां तक कि सभी पार्टियों ने गठबंधन भी कर लिया और अपने-अपने उम्मीदवारों की लिस्ट भी जारी कर दी। लेकिन इसी कड़ी में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने लोकसभा 2019 का इलेक्शन नहीं लड़ने का फैसला किया है। इसके पहले मनसे का कांग्रेस-एनसीपी के साथ गठबंधन करने की चर्चा थी, लेकिन वह सफल नहीं हो सकी।

मनसे ने रविवार को आधिकारिक रूप से घोषणा करते हुए लोगों को सूचना दी कि वह 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी। 19 मार्च को मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे की सभा भी है, इसीलिए अब सभी इसी इंतजार में है कि उस जनसभा में राज ठाकरे चुनाव को लेकर अपनी क्या भूमिका स्पष्ट करते हैं।

पढ़ें: एनसीपी कल्याण वाली सीट दे सकती है मनसे को?

राजनीतिक सूत्रों के मुताबिक़ मनसे इस चुनाव में कांग्रेस-एनसीपी के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ना चाहती थी। इस बात के लिए एनसीपी तैयार भी हो गयी थी लेकिन कांग्रेस तैयार नहीं थी, क्योंकि मनसे के साथ यूती करके कांग्रेस अपने हिंदी भाषी वोट को नाराज नहीं करना चाहती थी, इसीलिए मनसे का पेंच बिगड़ गया।

यही नहीं मनसे का जनाधार जिस तरह से खिसका है उसे देखते हुए भी कोई भी पार्टी उसके साथ जाने का रिस्क नहीं उठाना चाहती।

पढ़ें: चुनाव जीतने के लिए फिर से हो सकता है पुलवामा जैसा हमला- राज ठाकरे

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें