संजय निरुपम की भविष्यवाणी, मुंबई रहेगी डूबकर

 Mumbai
संजय निरुपम की भविष्यवाणी, मुंबई रहेगी डूबकर

बीएमसी कई दिनों से दावा करती आ रही है की मुंबई में नालेसफाई का कार्य काफी जोरो से और सुचारु रुप से चल रहे है। तो वही दूसरी तरफ शहर कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने यह भविष्यवाणी की है की इस बारे के बारिश में मुंबई का डूबना तय है। कांग्रेस ने दावा किया है की वडाला और शिवाजी नगर में नालो की सफाई ही नहीं हुई है। अभी तक 25 फिसदी से भी ज्यादा नालों की सफाई नहीं हुई है। साथ ही निरुपम ने आरोप भी लगाया की नालासफाई के नाम पर हाथ की सफाई शुरु है। निरुपम ने मांग की कि छोटे नालो की सफाई में हुए घोटालों की जांच की जाए।



बीएमसी ने दावा किया है की मुंबई में 90 फिसदी से ज्यादा नालासफाई का कार्य पूरा हो चुका है। जिसके बाद संजय निरुपम और बीएमसी में कांग्रेस पक्ष नेता रविराजा ने शहर के कई नालों का दौरा किया था। जिसके बाद बीएमसी के कार्य की पोलखोल की। इस निरिक्षण दौरे में नगरसेवक विठ्ठल लोकरे, पुष्पा कोली, सुप्रिया सुनील मोरे, सुफियान के साथ साथ कई कांग्रेसी कार्यकर्ता भी मौजूद थे।

निरुपम और रवी राजा ने सबसे पहले वडाला के कोरबा मिठागर नाले का दौरा किया। जहां पर उन्होने पाया की अभी तक नाले सफाई का कार्य पूरा नहीं हुआ है। शिवाजीनगर ,रफिकनगर में भी निरुपम ने नालो की सफाई का जायजा लिया। जहां पर स्थानिय लोगों ने निरुपम से शिकायत की कि यहां पर नाले सफाई का कार्य सही तरिके से नहीं किया जा रहा है। निरुपम ने इस मामले की जांच की मांग की। बीएमसी की सत्ता में स्थापित दोनों पार्टियां मुंबईकरो के लिए नालों को सही तरिके से साफ नहीं कर सकते। इस कार्य की जवाबदारी दोनों की है। बारिश कभी भी हो सकती है। शहर में सिर्फ 25 फिसदी नालेसफाई का कार्य पूरा हुआ है।

नाले सफाई के मामले की जांच तो पूरी हो गई लेकिन इस मामले पर किसी को भी सजा नहीं हुई है। लेकिन अब छोटे नालो की सफाई में भी घोटाला सामने आ रहा है। जिसकी जांच होनी चाहिए।

Loading Comments