फिर दिल्ली दरबार में नारायण राणे

 Mumbai
फिर दिल्ली दरबार में नारायण राणे

नाराज कांग्रेसी नेता नारायण राणे फिर से एक बार दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। इस बार राणे की दिल्ली रवानगी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भेट के लिए हैं। बीते कई दिनों से नारायण राणे के कांग्रेस त्यागने की संभावना राजकीय गलियारों में चल रही थी। राणे भाजपा में जाएंगे की शिवसेना में? इसपर सबकी निगाहें लगी हुई थी। स्वतः नारायण राणे और उनके दोनों पुत्र, पूर्व सांसद निलेश और वर्तमान विधायक नितेश राणे के वादग्रस्त वक्तव्य से इस चर्चा को और भी बल मिला। इसी पार्श्वभूमी पर बीते सप्ताह राणे ने दिल्ली में भाजपा के ‘वजनदार’ नेता से मुलाकात करने की जानकारी ‘मुंबई लाइव’ ने दी थी। 

10 अप्रैल को नारायण राणे का 65वां जन्मदिन है। जन्मदिन की पूर्वसंध्या पर होने वाले समारोह में मुंबई में राजकीय क्षेत्र के बड़े नेता शामिल होंगे। अपने जन्मदिन के मौके पर होने वाले कार्यक्रम में उपस्थित रहने के लिए कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को आमंत्रित करने के लिए नारायण राणे के नई दिल्ली जाने की संभावना जताई जा रही है।

नारायण राणे के जन्मदिन पर होने वाले कार्यक्रम में महाराष्ट्र के कांग्रेसी नेताओं को अभी तक निमंत्रण नहीं दिया गया है। ऐसी जानकारी सूत्रों से मिली है। सबसे खास बात यह है कि कार्यक्रम समारोह में भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी विशेष रूप से आमंत्रित हैं। अपने पार्टी के नेताओं को दरकिनार कर राणे भाजपा नेताओं को समारोह में शामिल कर रहे हैं। ऐसे में राणे की राहुल गांधी से मुलाकात निमंत्रण के लिए या फिर महाराष्ट्र के कांग्रेसी नेताओं के विरोध में पार्टी छोड़ने से पहले विरोध के लिए है? ऐसा संभ्रम पैदा हो गया है। 9 अप्रैल इस संभ्रम से परदा उढ़ेगा क्या? इससे भविष्य के राजकीय घटनाओं का अंजादा लगाना आसान हो जाएगा।

Loading Comments