महाराष्ट्र का मचमच: तो महाराष्ट्र में बन सकती है गैर बीजेपी सरकार?

सोमवार को NCP चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) दिल्ली जाकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (sonia gandhi) से मुलाकात करने वाले हैं।

SHARE

महाराष्ट्र में इस समय राजनीतिक मचमच काफी जोर शोर से चल रही है, लेकिन अब इसकी जैसी दशा और दिशा चल रही है उससे यह लग रहा है कि इस बार महाराष्ट्र में गैर बीजेपी सरकार बन सकती है? ऐसा इसीलिए क्योंकि सोमवार को NCP चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) दिल्ली जाकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (sonia gandhi) से मुलाकात करने वाले हैं। इसे लेकर अटकलों का दौर जारी है। इस मुलाकात को लेकर बीजेपी पर दबाव बन सकता है क्योंकि बीजेपी(bjp) की सहयोगी पार्टी शिव सेना(shiv sena) के सांसद और प्रवक्ता संजय राउत(sanjay raut)  शरद पवार से मुलाकात भी कर चुके हैं। जानकारों के मुताबिक़ यह मुलाकात सत्ता बनाने को लेकर भी की गयी होगी? 

कांग्रेस और एनसीपी की इस बैठक के बारे में  कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने पत्रकारों से कहा, 'शरद पवार साहब और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी गठबंधन को लेकर दोनों ही पार्टियों के कुछ मुद्दों पर चर्चा करेंगे।'  

पढ़ें: शिवसेना के नाटक में कांग्रेस को नहीं पड़ना चाहिए - संजय निरुपम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ एनसीपी के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता ने बताया कि, 'अभी तक हमें शिवसेना की ओर से समर्थन के लिए कोई औपचारिक निमंत्रण नहीं मिला है। हमारी 54 सीटें हैं और इतना तय है कि अगर गतिरोध खत्म नहीं हुआ तो सरकार बनाने में हमारी अहम भूमिका होगी।'

इसके पहले बीजेपी और शिव सेना के बीच चल रहे गतिरोध के बाद जो नए समीकरण बन रहे थे उसके मुताबिक़ शिव सेना एनसीपी और कांग्रेस से समर्थन लेकर सरकार बन सकती है। इस चर्चा के गर्म होने के बाद सोनिया गांधी ने कहा था कि कांग्रेस शिव सेना को समर्थन नहीं करेगी।

कयास अब यही लगाये जा रहे हैं कि इसी मुद्दे को लेकर शरद पवार और सोनिया गांधी के बीच बातचीत हो सकती है। अगर सब कुछ सही रहा तो महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर एन नया समीकरण बन सकता है।

पढ़ें: महाराष्ट्र की सत्ता को लेकर दिल्ली में गरमागरमी!

इसी बीच शिव सेना के संजय राउत ने शरद पवार से मुलाकात के बाद यह भी कहा कि, हमारे पास 175 विधायक हो गये हैं, मुख्यमंत्री शिव सेना का ही होगा।

आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव नतीजे आए हुए 10 दिन से भी अधिक दिन हो गये हैं, लेकिन अभी तक सत्ता गठन को लेकर बीजेपी और शिव सेना में रस्साकसी चल रही है। जबकि ये दोनों पार्टियां अगर चाहे तो मिल कर सरकार बना सकती हैं। लेकिन शिवसेना लगातार बीजेपी पर मुख्यमंत्री पद के लिए दबाव बना रही है और साथ ही मंत्रालय में भी बराबर का हिस्सा मांग रही है जबकि बीजेपी इससे इनकार कर रही है। इसे लेकर सोमवार को मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस दिल्ली जाकर गृह मंत्री अमित शाह से भेंट की, अब आगे क्या रिजल्ट निकलेगा यह आने वाला समय ही बताएगा।

पढ़ें: कांग्रेस के इस सांसद ने शिवसेना को समर्थन देने के लिए सोनिया गांधी को लिखा पत्र

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें