Advertisement

भारत में रियल स्टेट काफी नुकसान में, शरद पवार ने प्रधानमंत्री को लिखा खत

भारत में रियल एस्टेट सेक्टर भी लॉकडाउन की चपेट में आ गया है। नतीजतन, रियल एस्टेट सेक्टर पूरी तरह से पतन की स्थिति में है।

भारत में रियल स्टेट काफी नुकसान में, शरद पवार ने प्रधानमंत्री को लिखा खत
SHARES
Advertisement

भारत में रियल एस्टेट क्षेत्र को भी कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से कारण काफी मुशीबतों का सामना करना पड़ रहा है।  नतीजतन, रियल एस्टेट सेक्टर पूरी तरह से पतन की स्थिति में है।  एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कोविड 19 और लॉकडाउन के बीच भारत में रियल एस्टेट क्षेत्र के वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा हैं 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में शरद पवार कहते हैं कि तालाबंदी के कारण करीब तीन महीने से निर्माण ठप है।  मजदूरों के हाथ में कोई रोजगार नहीं है।  टव्यापार में  एक ठहराव पर है।  नतीजतन, रियल एस्टेट सेक्टर पूरी तरह से अव्यवस्था की स्थिति में है।  देश की जीडीपी में रियल एस्टेट सेक्टर का भी बड़ा योगदान है।  ऐसे में इस क्षेत्र के साथ सहयोग करना बहुत जरूरी है।





 कन्फेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (क्रेडाई) ने भी इस संबंध में एक पत्र लिखकर एकमुश्त पुनर्गठन, अतिरिक्त संस्थागत वित्त पोषण, दंडात्मक ब्याज की माफी, जीएसटी में राहत, कच्चे माल की आसान उपलब्धता के लिए अचल संपत्ति क्षेत्र में मदद करने की मांग की है।

रियल एस्टेट क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है।  इसलिए, शरद पवार ने मांग की है कि क्षेत्र के पुनरुद्धार के लिए आवश्यक उपाय करने के लिए प्रधान मंत्री को तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिए और क्षेत्र के साथ सहयोग करना चाहिए।




संबंधित विषय
Advertisement