मनसे की हार पर नई 'राज' नीति


SHARE

मुंबई महानगरपालिका चुनाव में पराजय को लेकर मनसे की चिंतन बैठक में पार्टी के नेताओं की राज ठाकरे ने जमकर क्लास लगाई और हार के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराते हुए उनके कार्यों को लेकर नाराजगी व्यक्त की। मनसे में राज ठाकरे का एकाधिकारशाही चलता है यह नियम इस बैठक में अपवाद रहा।
मुंबई महानगर पालिका चुनाव के बाद ठंडे पड़े महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के इंजन को फिर से गति देने का कार्य मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने शुरू किया है। पारिवारिक कारणों से विदेश गए राज ठाकरे ने मुंबई लौटने के बाद पार्टी के नेताओं, महासचिवों, सचिवों समेत प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक बुलाई।
बैठक में बीएमसी चुनाव में मिली हार पर मंथन करते हुए मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने कहा "अनेक महत्वपूर्ण विषयों पर पार्टी की भूमिका जनता तक नहीं पहुंची। मेरी बात जनता तक आप लोग सही तरीके से पहुंचा नहीं पाए, मराठी के साथ अन्य भाषिकों की पार्टी को जरूरत है पार्टी को वोट नहीं मिला तो चलेगा लेकिन मराठी मुद्दा कभी भी छोड़ना नहीं है।"
राज ठाकरे ने बीएमसी चुनाव में बगावत करने वाले नेताओं पर कार्रवाई करने की बात कहते हुए, जल्द ही लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए कार्यकर्ताओं से मिलने की बात कही।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें