SHARE

महिलाओं के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर चौतरफा आलोचना झेल रहे बीजेपी विधायक राम कदम के द्वारा माफ़ी मांगने के बाद भी विपक्ष उन्हें माफ़ी देने के मूड में नहीं है। विपक्ष मुख्यमंत्री से कदम का इस्तीफा मांग रहा है, लेकिन कदम को उनकी पार्टी के एक मंत्री की तरफ से राहत मिली है। राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील ने कहा है कि 'जब कदम ने माफ़ी मांग लिया है तो विवाद का कोई मुद्दा ही नहीं रह जाता है।'
 
क्या कहा पाटील ने?
चंद्रकांत पाटील ने कहा कि जब इस विषय पर राम कदम ने माफ़ी मांग ली तो यह विषय ही समाप्त हो जाता है।. उन्होंने कहा कि कदम हर इंसान की मदद करते हैं, सैकड़ों महिलाएं उन्हें राखी बांधती हैं, अगर गलती से उन्होंने कुछ कह भी दिया होगा तो उन्होंने माफ़ी मांग कर विषय को समाप्त कर दिया। पाटिल ने स्पष्ट किया कि उनके(कदम) के खिलाफ कार्रवाई करना है नहीं यह प्रदेश अध्यक्ष राव साहेब दानवे ही तय करेंगे।

कदम की चैनलबंदी 
आपको बता दें कि राम कदम मामले में अब तक बीजपी की तरफ से कोई बयान नहीं जारी किया गया था, दबाव बढ़ता देख गुरुवार को बीजेपी ने कदम को पार्टी प्रवक्ता के रूप में किसी भी समाचार चैनलों में डीबेट करने पर रोक लगा दी थी। लेकिन शुक्रवार को चंद्रकांत पाटील के बयान से  जरूर बड़ी राहत मिली होगी।
 
क्या कहा था कदम ने 
आपको बता दें कि राम कदम ने दही हांडी आयोजन में लोगों को संबोधित करते हुए कहा था कि अगर किसी लड़के को कोई लड़की पसंद आती है तो वे लड़के के मां-बाप के राजी होने पर लड़की को भगा कर उसकी शादी लड़के से करा देंगे। इसी बयान के बाद बवाल मच गया। 

पढ़ें: राम कदम विवाद: दही हांडी समन्वय समिति ने कदम के दही हांडी का किया बहिष्का

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें