शिवसेना के साथ कोई मतभेद नहीं- मुख्यमंत्री

फडणवीस के इस बयान से उन अफवाहों पर भी फुलस्टॉप लग गया जिसमें कहा गया था कि दोनों भगवा दल कांग्रेस और राकांपा से आए नेताओं को जगह देने के लिए चुनाव अलग-अलग लड़ सकते हैं।

SHARE

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर से कहा कि 2014 के विपरीत भाजपा और शिवसेना आगामी विधानसभा मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने इस बात का भी खंडन किया कि बीजेपी अकेले ही चुनाव लड़ेगी। फडणवीस चर्चगेट में स्थित गरवारे क्लब में आयोजित उस कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे जिसमें एनसीपी और कांग्रेस सहित कुल 52 विधायकों ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की।

पढ़ें: कांग्रेस और एनसीपी के कई नेता खुद बीजेपी में आना चाहते हैं तो मैं क्या करूं- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, इस बात को लेकर हमेशा से ही शंका व्यक्त की जाती है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में क्या बीजेपी और शिवसेना साथ में लड़ेंगे? तो मैं बता दूँ कि यह आशंका आधारहीन है, शिवसेना, बीजेपी और सहयोगी पार्टियों की युति अभेद है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि, भाजपा, शिवसेना और सहयोगी दल ‘राज्य विधानसभा चुनावों में अधिकतम सीटें जीतने का रिकार्ड तोडेंगे।’ 

सीट बंटवारे मुद्दे पर फडणवीस ने कहा कि, कुछ जगह को लेकर हमारे बीच जरुर कुछ मतभेद हैं लेकिन 15 दिनों के अंदर ही बात कर उसे भी सुलझा लिया जाएगा। कुछ सीटों को लेकर अदला बदली भी हो सकती है, शिवसेना की कुछ सीट बीजेपी को तो बीजेपी की कुछ सीट शिवसेना को मिल सकती है।

पढ़ें: महाराष्ट्र विधानसाभ चुनाव के लिए कांग्रेस एनसीपी और सपा में हो सकता है गठबंधन

फडणवीस के इस बयान से उन अफवाहों पर भी फुलस्टॉप लग गया जिसमें कहा गया था कि दोनों भगवा दल कांग्रेस और राकांपा से आए नेताओं को जगह देने के लिए चुनाव अलग-अलग लड़ सकते हैं।

आपको बतादें कि भाजपा और शिवसेना ने 2014 का चुनाव अलग-अलग लड़ा था लेकिन सरकार गठन के समय एकसाथ आ गये थे।

पढ़ें: Exclusive - मुंबई कांग्रेस के कई और नेता शिवसेना-बीजेपी के संपर्क में!

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें