जिस काम को बाल ठाकरे और उद्धव ठाकरे ने नहीं किया, उसे आदित्य ठाकरे ने कर दिखाया

आदित्य ठाकरे ही पहले वह शख्स होंगे जो किसी भी तरह के लोकतांत्रिक चुनाव में हिस्सा लेंगे। आज तक ठाकरे परिवार के किसी भी सदस्य ने भी चुनाव में उम्मीदवारी नहीं की है।

SHARE

 

शिव सेना के युवा सेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे ने आख़िरकार ठाकरे परिवार की परंपरा को तोड़ ही दिया। आदित्य ठाकरे अब आधिकारिक रुप से मुंबई के वर्ली विधानसभा से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि इस बात की घोषणा खुद आदित्य ठाकरे ने ही की। एक दिन पहले ही शिवसेना की तरफ से आदित्य ठाकरे को चुनाव लड़ने का AB फॉर्म मिला था।

क्या कहा आदित्य ठाकरे ने?

सोमवार को वर्ली में आयोजित एक सभा में सैकड़ों की संख्या में शिव सेना के कार्यकर्ता, पदाधिकारी सहित सांसद संजय राउत भी उपस्थित थे। इस मौके पर आदित्य ठाकरे ने कहा कि पिछले दो-तीन महीनों से मैं महाराष्ट्र में घूम रहा हूं। मैं लोगों का आशीर्वाद ले रहा था। आप मुझे वही प्रेम देने जा रहे हैं जो आपने पिछले 3 वर्षों से हिंदू सम्राट बाला साहेब ठाकरे और पार्टी प्रमुख उद्धवजी ठाकरे को दिया था। यही वह प्यार है जिसे मैं आगे बढ़ाऊंगा। जब भी किसी ने मुझसे पूछा कि तुम क्या कर सकते हो, मैंने उन्हें जवाब दिया कि मैं राजनीति कर सकता हूं।

पढ़ें: 3 अक्टूबर को वर्ली विधानसभा क्षेत्र से अपना नामांकन दाखिल करेंगे आदित्य ठाकरे

उन्होंने आगे कहा कि  मुझे मेरे दादाजी ने सिखाया है कि केवल 20 प्रतिशत ही राजनीति करो बाकी लोगों की सेवा। राजनीति एक ऐसा मीडिया है जो आपके एक फैसले से लाखों लोगों के भविष्य को प्रभावित कर सकता है। मै महाराष्ट्र भर में सूखा और बाढ़ प्रभावित वाले क्षेत्रों में घूमता रहा। शिव सेना ने लोगों के लिए बहुत काम किया है।

आदित्य ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, मैंने पार्टी प्रमुखों से अनुमति ले ली है, लेकिन आप सभी की अनुमति और इच्छा है, तो मैं यह चुनाव जरुर लड़ूंगा। आपका प्यार और आपका आशीर्वाद मेरे साथ है। हम सभी वर्ली ही नहीं बल्कि पूरे महाराष्ट्र के लिए मिलकर काम करना चाहते हैं। चुनाव लड़ने का फैसला मेरे सपनों के लिए नहीं, बल्कि एक नए महाराष्ट्र के लिए है।

पढ़ें: आदित्य ठाकरे के लिए ग्राणीण इलाको में भी सुरक्षित सीट ढूंढ रही है शिवसेना

आपको बता दें कि आदित्य ठाकरे ही पहले वह शख्स होंगे जो किसी भी तरह के लोकतांत्रिक चुनाव में हिस्सा लेंगे। आज तक ठाकरे परिवार के किसी भी सदस्य ने भी चुनाव में उम्मीदवारी नहीं की है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें