शिवाजी स्मारक: पीएम मोदी के बाद अब PWD मंत्री फिर से करेंगे भूमिपूजन,

शायद इस बार भूमिपूजन पहले से भी अच्छे मुहूर्त में किया जाए ताकि इस बार काम शुरू होने के बाद फिर से कोई हादसा न हो।

SHARE

मुंबई के अरब सागर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाये जा रहे शिवाजी स्मारक का भूमिपूजन एब एक बार फिर से किया जाएगा। इस बार यह भूमिपूजन पीडब्लूडी मंत्री और शिवाजी स्मारक समिति के अध्यक्ष विनायक मेटे करेंगे। बताया जाता है कि विनायक मेटे 20 दिसंबर को स्मारक के लिए भूमिपूजन कर सकते हैं। शायद इस बार भूमिपूजन पहले से भी अच्छे मुहूर्त में किया जाए ताकि इस बार काम शुरू होने के बाद फिर से कोई हादसा न हो। आपको बता दें कि पीएम मोदी द्वारा साल 2016 दिसंबर महीने में ही इस स्मारक का भूमिपूजन कर चुके है। यही नहीं जब दो महीने पहले यानी 24 अक्टूबर को स्मारक के काम के लिए कर्मचारियों को समुद्र में ले जाया जा रहा था तभी बीच रास्ते में ही नाव पलट गयी थी। इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी।

पढ़ें: शिवाजी स्मारक कार्य के दौरान समुद्र में बोट हुई दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत

अधिकारी ने साधी चुप्पी
पीडब्लूडी विभाग ने इस भूमिपूजन की तैयारी भी शुरू कर दी है। मुंबई लाइव ने इस खबर की पुष्टि के लिए संबंधित अधिकारी से जब पूछताछ की अधिकारी ने भी इस बात की पुष्टि की। लेकिन मुंबई लाइव के रिपोर्टर द्वारा यह पूछे जाने पर कि, आखिर दोबारा भूमीपूजन करने का क्या औचित्य है? और क्या हादसे के कारण ही यह भूमिपूजन किया जा रहा है? इस पर अधिकारी ने चुप्पी साध ली।

पढ़ें: शिवाजी स्मारक पर राज्य सरकार को राहत, स्टे लगाने से हाई कोर्ट ने किया इनकार

हो गया था हादसा
इस स्मारक के लिए 3600 करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है। इस स्मारक के लिए डेडलाइन 2022 तय की गयी थी। लेकिन योजना को मूर्तरूप देने में काफी देरी हो गयी। इसी साल जब अक्टूबर महीने में काम शुरू हुआ तो हादसा घटित हो गया जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गयी। इस हादसे की जांच के लिए एक समिति की स्थापना भी की गयी है जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। क्या पता इस बार अच्छे मुहूर्त में भूमिपूजन करने से शायद हादसों से बचा जा सके।

संबंधित विषय