शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े की सफाई, स्कूलों को प्रधानमंत्री के जीवन पर बनी कोई भी फिल्म दिखाने का नहीं दिया आदेश!

महाराष्ट्र में जिला परिषद के स्कूलों में पीएम नरेंद्र मोदी जीवनी पर आधारित फिल्म दिखाने को लेकर कई राजनीतिक पार्टियों ने इसका विरोध किया था।

SHARE

कुछ दिनों पहले महाराष्ट्र के जिला परिषद के स्कूलो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीवनी पर आधारित फिल्म को दिखाने को लेकर काफी हो हल्ला हुआ था। इस फिल्म को दिखाने को लेकर महाराष्ट्र की राजनीति में इसका काफी विरोध भी हुआ। तो वही राज्य के शिक्षा मंत्री विनोद तावडे ने अब इस मामले में सफाई देते हुए कहा की उन्होने किसी भी स्कूल को प्रधानमंत्री की जीवनी पर आधारित किसी भी फिल्म को दिखाने का आदेश नहीं दिया है।

' चलो जीते है' दिखाने का एक मौखिक आदेश

दरअसल राज्य में 18 सितंबर को जिला परिषद के स्कूलों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीवन पर आधारित फिल्म ' चलो जीते है' दिखाने का एक मौखिक आदेश जारी किया गया था, जिसका कांग्रेस के साथ साथ अन्य विपक्षी दलों ने जमकर विरोध किया था। कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने तो प्रधानमंत्री को अनपढ़ गवार तक कह दिया था।

वाट्सऐप संदेश

इस बीच, ग्रुप शिक्षा अधिकारियों के लिए सभी स्कूलों में लघु फिल्म 'चालो जिते है' दिखाने के लिए समूह के शिक्षा अधिकारी और राज्य के केंद्र-प्रमुख को एक वाट्सऐप संदेश भेजा गया है और इसके लिए कई बैठकें शुरू की गई हैं। इस संबंध में प्राथमिक शिक्षा प्रशिक्षक के साथ उप शिक्षा अधिकारी ने कुछ भी बोलने से मना कर दिया है।


यह भी पढ़े- हिंदी दिवस विशेष - हिंदी हैं हम वतन के, हिन्दोस्तां हमारा

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें