चुनाव खर्च का ब्यौरा न देने पर पार्टियों का रजिस्ट्रेशन होगा रद्द- चुनाव आयोग


SHARE

राज्य निर्वाचन आयोग ने स्थानीय निकाय चुनावों में किए गए व्यय को प्रस्तुत नहीं करने के कारण राज्य में 14 दलों को कारण बताओ नोटिस भेजा हैं। इस नोटिस में राज्य चुनाव आयोग ने सभी पार्टियों को 10 मार्च तक हुए खर्च का ब्योरा देने का आदेश दिया है।  

इन पार्टियां को भेजा गया नोटिस
भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, एनसीपी, शिवसेना, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, जनता दल (सेक्युलर), समाजवादी पार्टी, अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम, लोकजन शक्ति पार्टी, अखिल भारतीय मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (MIM) और संयुक्त जनता दल 

आपको बता दें कि 15 अक्टूबर 2016 में राज्य चुनाव आयोग ने सभी पार्टियों को चुनाव में हुए सभी खर्चों का ब्यौरा देना अनिवार्य किया था। लेकिन इस बाबत सभी पार्टियां लापरवाही बरतती हैं, इस बार कड़े कदम उठाते हुए चुनाव आयोग ने सभी पार्टियों को नोटिस भेजा है। यही नहीं चुनाव आयोग के कमिश्नर जेएस सहरिया ने यह भी कहा है कि अगर आदेशों का पालन नहीं किया गया तो पार्टियों का पंजीकरण रोक दिया जाएगा। 

संबंधित विषय