महापरिनिर्वाण दिन का राजनीतिकरण

दादर - संविधान निर्माता डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर के 60 वें महापरिनिर्वाण दिन के अवसर पर जहां सारे देश में उनके अनुयायी उन्हें याद कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ मुंबई के वर्ली स्थित वार्ड क्रमांक 195 में महापरिनिर्वाण दिन के अवसर पर शिवसेना, भाजपा, मनसे, राकांपा जैसी राजनीतिक पार्टियों के बैनरबाजी और पोस्टरबाजी से सभी नेता अपने आप को बाबा के समर्थक सिद्ध करने में जुट गए हैं। आगामी मनपा चुनाव के मद्देनजर वार्ड क्रमांक 195 आरक्षित होने के कारण सबकी नजर दलितों के वोटों पर टिक गयी है। सभी अपने आप को उनका हितैषी सिद्ध करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। नेता वोट के लालच में कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। शायद यही कारण है कि महापरिनिर्वाण दिन के मौके पर सभी राजनीतिक पार्टियों ने बाबा के अनुयायियों के लिए खाने पीने का स्टॉल भी लगा रखा है।

Loading Comments