सुप्रीम कोर्ट में आज 10.30 बजे महाराष्ट्र मामले पर सुनवाई

रविवार को हुी सुनवाई में कोर्ट ने सोलिसिटर जनरल तुषार मेहता को आदेश दिया था की वो देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार द्वारा राज्यपाल को दिये गए विधायको के समर्थन की चिठ्ठी पेश करे।

SHARE

सुप्रीम कोर्ट में आज फिर से महाराष्ट्र में सरकार गठन मामले में सुनवाई की जाएगी।  सुबह 10.30 बजे सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरु होगी। रविवार को हुी सुनवाई में कोर्ट ने सोलिसिटर जनरल तुषार मेहता को आदेश दिया था की वो देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार द्वारा राज्यपाल को दिये गए विधायको के समर्थन की चिठ्ठी पेश करे। इसके साथ ही कोर्ट ने राज्यपाल से देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार को राज्य़पाल द्वारा सरकार बनाने के लिए दिये गए आमंत्रण पत्र को भी पेश करने के लिए कहा है।  आपको बता दे की मुकुग रोहतगी और तुषार मेहता बीजेपी का पक्ष रख रहे है तो वही दूसरी ओर कपिल सिब्बल , अभिषेक मनु सिघवी और कामत कांग्रेस एनसीपी और शिवसेना का पक्ष रख रहे है।

 दो दिन के वक्त की मांग को ठुकराया

जस्टिस एनवी रमनाजस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की विशेष पीठ ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता के पत्रों को पेश करने के लिए दिया। पीठ ने कहा कि इसमें कोई विवाद नहीं है कि बहुमत साबित करने के लिए विधानसभा में शक्ति परीक्षण ही सही तरीका है लेकिन हम दोनों के पत्रों को देखना चाहते हैं।

रविवार को सुनवाई की शुरुआत करते हुए कांग्रेस के कपिल सिब्बल ने बेंच से कहा था कि राज्य में चुनाव से पहले बने गठबंधन के टूटने के बाद हम लोग दूसरा गठबंधन बनाने की कोशिश कर रहे हैं। सिब्बल ने अदालत से कहा था कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी केंद्र के निर्देश पर काम कर रहे हैं और शिवसेना को बहुमत साबित करने के लिए सिर्फ़ 24 घंटे का वक्त दिया गया।

यह भी पढ़े- राज्यपाल को समर्थन की चिठ्ठी सुप्रीम कोर्ट में होगी पेश

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें