Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
59,17,121
Recovered:
56,54,003
Deaths:
1,12,696
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
15,390
575
Maharashtra
1,47,354
9,350

चाय वाले ने पीएम मोदी को भेजा 100 रुपया, कहा: या तो दाढ़ी बढ़ाओ या रोजगार बढ़ाओ

बारामती में एक प्राइवेट हॉस्पिटल के बाहर 'टी हाउस' नामसे चाय की दूकान चलाने वाले अनिल की दूकान पिछले डेढ़ साल से लॉकडाउन के कारण बंद है। इसी बात से नाराज होकर उन्होंने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक पत्र के साथ एक रजिस्टर भी भेज दिया

चाय वाले ने पीएम मोदी को भेजा 100 रुपया, कहा: या तो दाढ़ी बढ़ाओ या रोजगार बढ़ाओ
SHARES

पीएम नरेंद्र मोदी (PM narendra modi) की दाढ़ी पिछले कुछ महीनों से काफी चर्चा में रही है, और इस बार यह एक चाय वाले के कारण फिर से चर्चा में आ गई है। महाराष्ट्र (Maharashtra) के बारामती (baramati) में रहने वाले अनिल मोरे (anil more) नामके इस शख्स ने पीएम नरेंद्र मोदी को 100 रुपए मनी आर्डर भेजा है।

अनिल मोरे ने पीएम मोदी की दाढ़ी पर तंज कसा है। मोरे ने 100 रुपए भेजते हुए कहा कि, लॉकडाउन (lockdown) की वजह से कई लोगों का काम ठप्प हो गया है। रोजगार बंद हो गए हैं।लेकिन प्रधानमंत्री अपनी दाढ़ी बढ़ा रहे हैं। अगर उन्हें कुछ बढ़ाना ही है तो रोजगार बढ़ाएं।

मोरे ने कहा, 'मैं अपनी कमाई से 100 रुपये भेज रहा हूं ताकि मोदी दाढ़ी बनवा लें।'

मोरे ने आगे यह भी कहा कि मोदी को कुछ बढ़ाना है तो वह रोजगार बढ़ाएं। लोगों की स्वास्थ्य सुविधा के लिए वैक्सिनेशन सेंटर (vaccination center) बढ़ाएं। लोगों की समस्याएं हल करने पर ध्यान लगाएं।

बता दें कि, बारामती में एक प्राइवेट हॉस्पिटल के बाहर 'टी हाउस' नामसे चाय की दूकान चलाने वाले अनिल की दूकान पिछले डेढ़ साल से लॉकडाउन के कारण बंद है। इसी बात से नाराज होकर उन्होंने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक पत्र के साथ एक रजिस्टर भी भेज दिया और उस पत्र में अपनी मांग लिख दी।

अपने पत्र में अनिल ने आगे लिखा है कि, 'प्रधानमंत्री देश के सर्वोच्च नेता हैं। हमारे मन में उनके लिए आदर है। उन्हें परेशान करना हमारा उद्देश्य नहीं है लेकिन लॉकडाउन के कारण लाखों लोग परेशान हैं। कोरोना से जान गंवाने वाले हर शख्स के परिवार को पांच लाख रुपये की मदद देनी चाहिए और आगे लॉकडाउन बढ़ने पर हर परिवार को 30 हजार रुपये की मदद सरकार को उपलब्ध करानी चाहिए।'

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें