Advertisement

उद्धव ठाकरे ने किया CAA का समर्थन लेकिन NRC को नहीं करेंगे राज्य में लागू

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का कहना है की एनआरसी लागू होने से हिंदू और मु्स्लिमों दोनों के ही लिए नागरिकता साबित करना काफी मुश्किल हो जाएगा। मैं ऐसा नहीं होने दूंगा

उद्धव ठाकरे ने किया CAA का समर्थन लेकिन NRC को नहीं करेंगे राज्य में लागू
SHARES

राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक साक्षात्कार में कहा की वह CAA का समर्थन करते है लेकिन राज्य में NRC को लागू नहीं करेंगे। ठाकरे ने कहा, 'सीएए से देश के किसी भी नागरिक की नागरिकता नहीं छीनी जाएगी। हालांकि एनआरसी को महाराष्ट्र में लागू नहीं होने दिया जाएगा। एनआरसी लागू होने से हिंदू और मु्स्लिमों दोनों के ही लिए नागरिकता साबित करना काफी मुश्किल हो जाएगा। मैं ऐसा नहीं होने दूंगा।'

हिंदुत्व पर पार्टी का रुख किया साफ


शिवसेना के मुखपत्र सामना को दिये गए साक्षात्कार में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कई मुद्दों पर बात की।  उन्होने एक बार हिंदुत्व के मुद्दे पर भी अपनी पार्टी का रुख साफ किया है। उद्धव ठाकरे ने कहा की " हमने हिंदुत्व कभी नहीं छोड़ा है और ना ही इसे  कभी  छोड़ेगे, महाराष्ट्र में हमने कांग्रेस और एनसीपी से गठबंधन किया है इसका यह मतलब नहीं की हमने धर्म बदल लिया है या फिर हिंदुत्व का मुद्दा छोड़ दिया है, हिंदुत्व के मुद्द पर पार्टी किसी भी तरह का कोई भी समझौता नहीं करेगी"

लोकसभा में CAA का किया था समर्थन 

आपको बता दे की जब केंद्र की मोदी सरकार ने लोकसभा में CAA को पेश किया था तो शिवसेना ने लोकसभा में इसका समर्थन किया था।   हालांकि जब नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा से पारित होकर राज्यसभा पहुंचा, तो शिवसेना ने सदन से वाक आउट किया था।इसके बाद संसद के दोनों सदनों से नागरिकता संशोधन बिल पारित हो गया था और राष्ट्रपति की मंजूरी से कानून बन गया था। नागरिकता संशोधन अधिनियम को सरकारी गजट में भी प्रकाशित किया जा चुका है।

यह भी पढ़े- आज़ाद मैदान में शरजील इमाम के समर्थन में लगे नारे, पुलिस कर रही है जांच

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement