Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
59,17,121
Recovered:
56,54,003
Deaths:
1,12,696
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
15,390
575
Maharashtra
1,47,354
9,350

पेट्रोल, डीजल फिर हुआ महंगा

इस मूल्य वृद्धि के बाद अब मुंबई (Mumbai) में पेट्रोल 102.04 रुपये पर पहुंच गया है जबकि डीजल के दाम भी बढ़कर 94.15 रुपये प्रति लीटर हो गया हैं।

पेट्रोल, डीजल फिर हुआ महंगा
SHARES

पेट्रोलियम कंपनियों ने एक बार फिर पेट्रोल (petrol) और डीजल (Diesel) के दाम बढ़ा दिए हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजर में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी होने से देश की पेट्रोलियम कंपनियों पर दबाव पड़ा है। देश भर में शुक्रवार को पेट्रोल 29 पैसे और डीजल 28 पैसे महंगा हो गया।

पेट्रोल और डीजल (petrol and diesel price hike) की कीमतों ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। गुरुवार को ईंधन की कीमतों में गिरावट के बाद शुक्रवार को कीमतों में फिर बढ़ोतरी की गई। इस मूल्य वृद्धि के बाद अब मुंबई (Mumbai) में पेट्रोल 102.04 रुपये पर पहुंच गया है जबकि डीजल के दाम भी बढ़कर 94.15 रुपये प्रति लीटर हो गया हैं।

दिल्ली (delhi) में पेट्रोल और डीजल की कीमत क्रमश: 95.85 रुपये और 86.75 रुपये है। जबकि चेन्नई (Chennai) में पेट्रोल की कीमत 97.19 रुपये और डीजल की कीमत 91.42 रुपये है। तो वहीं कोलकाता (Kolkata) में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 95.80 रुपये और डीजल की 89.60 रुपये है। महाराष्ट्र के पुणे में पेट्रोल की कीमत 101.64 रुपये हो गई है।

फिलहाल केंद्र सरकार पेट्रोल पर 32.98 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 31.83 रुपये प्रति लीटर का टैक्स लगा रही है। महाराष्ट्र सरकार पेट्रोल पर 25 फीसदी वैट और डीजल पर 21 फीसदी वैट लगाती है। साथ ही इस पर अधिक सेस भी लगता है। पेट्रोल पर 10 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 3 रुपये प्रति लीटर का उपकर लगाया जाता है। इसी का नतीजा है कि देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

पश्चिम बंगाल, केरल, असम और तमिलनाडु में चुनाव के बाद से पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कच्चे तेल की कीमतों और विदेशी विनिमय दरों के साथ-साथ दैनिक आधार पर उतार-चढ़ाव होता है। नई दरें देश के हर पेट्रोल पंप पर सुबह छह बजे से लागू हो गई हैं।

मार्च में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 16 बार बढ़ोतरी की गई थी। मई में लगातार चार दिनों तक ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी की गई थी। पेट्रोल-डीजल के दाम जनवरी में 10 गुना और फरवरी में 16 गुना बढ़ चुके हैं। मार्च में तीन बार और अप्रैल में एक बार कीमतों में गिरावट आई है।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल 100 के पार, कांग्रेस विरोध में उतरी

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें