अरुणा की याद में पुस्तक का प्रकाशन

 BMC office building
अरुणा की याद में पुस्तक का प्रकाशन
अरुणा की याद में पुस्तक का प्रकाशन
अरुणा की याद में पुस्तक का प्रकाशन
अरुणा की याद में पुस्तक का प्रकाशन
See all

परेल - किंग एडवर्ड मेमोरियल (केईएम) अस्‍पताल में ज्‍यादती की शिकार हुई नर्स अरुणा शानबाग की याद में लोकवाङ्मय गृह द्वारा लिखित 'अरूणाच्या निमित्ताने' पुस्तक का प्रकाशन हुआ। केईएम के ओल्ड नर्सेस हॉस्टेल की अधिसेविका अरूंधती वेल्हाल के हाथों इस पुस्तक का प्रकाशन हुआ। इस मौके पर परिचर्या विभाग प्राचार्य पूर्वा खंदारे, लेखिका सुनिता कुलकर्णी, सीमा केतकर, केईएम अस्पताल के अधिष्ठाता डॉ. एच.डी. ग्वालानी आदि मान्यवर उपस्थित हुए। प्राचार्य पूर्वा खंदारे ने इस मौके पर कहा कि महिलाओं पर लैंगिक अत्याचार को लेकर सरकार ने 2013 में सशक्त नियम बनाया, लेकिन अरुणा शानबाग की घटना तो 1973 में घटी। उस समय कड़ा कानून नहीं होने की वजह से आरोपी सात साल में ही छूट गया। वर्तमान में महिलाओं पर अत्याचार में किसी भी प्रकार की कमी नहीं आई है। इसके लिए महिलाओं को जागृत होने का आवश्यकता है।

Loading Comments