वड़ापाव खाओ...मयुरेश के परिवार को मदद पहुंचाओ !


SHARE

एलफिन्स्टन स्टेशन पर  हुए भगदड में 23 लोगों की जान चली गई थी, जिनमें वर्ली के बीडीडी चॉल में रहनेवाले 21 वर्षीय मयुरेश हलदणकर भी थे। मयुरेश ने छोटे से ही उम्र में घर की कई सारी जिम्मेदारियां अपने कंधो पर ले रखी थी। लेकिन उसकी अचानक हुई मौत के कारण उसके पूरे परिवार के सामने अब रोजी रोटी का संकंट खड़ा हो गया है। मयुरेश के दोस्त भी अपने अपने हिसाब से उसके परिवार की मदद कर रहे है। इसी ओर एक कदम आगे बढ़ाते हुए परेल में वड़ापाव बेचनेवाले मंगेश अहिवले नाम के एक युवक ने मयुरेश के परिवार की मदद करने का फैसला किया है।

मंगेश परेल एसटी डेपो के पास वड़ापाव बेचता है, मंगेश के घर की भी माली हालत कुछ अच्छी नहीं है , बावजूद इसके मंगेश ने वड़ापाव से होनेवाले एक दिन की पूरी आमदनी मयुरेश के परिवार को देने का फऐसला किया है ताकी परिवार को कुछ आर्थिक सहायता मिल सके।

दरअसल मुंबई में वड़ापाव खानेवालों की कोई कमी नहीं है। मंगेश पिछलें कई सालों से 5 रुपये में वड़ापाव बेच रहा है। 14 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से लेकर रात 8 बजे तक मंगेश वाडापाव के स्टॉल से होनेवाली पूरी आमदानी मयुरेश के परिवारवालों को देगा।

एलफिन्स्टन भगदड़ में मारे गए लोगों को रेलवे और सरकार ने तुरंत राहत पहुंचाने का एलान किया था। हालांकी मुंबई में अभी तक मरनेवाले किसी भी शख्स के परिवार वालों को अभी तक किसी भी तरह की आर्थिक सहायता राशि प्राप्त नहीं हुई है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें