मुंबई-नागपुर सुपर एक्सप्रेस वे के लिए देशी के साथ कई विदेशी कम्पनियां भी कतार में

    Mumbai
    मुंबई-नागपुर सुपर एक्सप्रेस वे के लिए देशी के साथ कई विदेशी कम्पनियां भी कतार में
    मुंबई-नागपुर सुपर एक्सप्रेस वे के लिए देशी के साथ कई विदेशी कम्पनियां भी कतार में
    See all
    मुंबई  -  

    मुंबई-नागपुर सुपर एक्सप्रेस वे (समृद्धि महामार्ग) के निर्माण के लिए महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम (एमएसआरडीसी) के टेंडर को प्रचंड प्रतिसाद मिल रहा है। इस महामार्ग के निर्माण के लिए कुल 33 कंपनियों ने इच्छा जताई है जिनमें राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कंपनियां भी शामिल हैं।

    एमएसआरडीसी के सहकारी निदेशक किरण कुरुंदकर ने जानकारी देते हुए बताया कि 706 किमी लंबे इस महामार्ग के लिए जनवरी में टेंडर निकाला गया था। इस निर्माण के लिए चीन, रुस सहित कूल 12 विदेशी कम्पनियों ने भी इच्छा जताई है जबकि भारत की 21 कंपनियां हैं।कुरुंदकर ने कहा कि जल्द ही सारी प्रक्रियाओं को पूरा कर टेंडर घोषित किये जाएंगे।


    जिन कम्पनियों ने टेंडर भरा है वे हैं -

    हिन्दुस्तान कंस्ट्रक्शन कंपनी, लार्सन एंड टर्बो, रिलायन्स इन्फ्रास्ट्रक्चर, गैमन इंडिया, अशोका बिल्डकॉन, गायत्री प्रोजेक्टस, पीएनसी इन्फ्राटेक लिमिटेड, नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी, सिम्पलेक्स इंफ्रास्ट्रक्चर, कृष्णा मोहन कन्स्ट्रक्शन, ओरियएन्टल स्ट्रक्चरल इंजिनियर्स, एफकॉन इन्फ्रास्ट्रक्चर, नवयुग ग्रुप,, दिलीप बिल्डकॉन लि, एसईडब्ल्यु इन्फ्रास्टक्चर, चाइना कन्स्ट्रक्शन फिफ्थ इंजिनियरींग डीवीजन कॉर्पोरेशन लि.,सीजीसीडी कन्स्ट्रक्शन आदि।

    आपको बता दें कि इस महामार्ग का विरोध महारास्ट्र के कई किसान कर रहे हैं. किसानों का आरोप है कि उनकी उपजाऊ जामीन के बदले उन्हें सही मुआवजा नहीं मिल रहा है।


    डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

    मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

    (नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.