मरे ने महिलाओं की यात्रा को बनाया आरामदायक, सेकंड और फर्स्ट क्लास की सीटें एक समान


SHARE

मध्य रेलवे को महिलाओं द्वारा लगातार मिल रही शिकायती पत्र में यह कहा जा रहा था कि लोकल ट्रेनों में महिलाओं की यात्रा और भी आरामदायक और सुविधाजनक हो। इस मामले में मध्य रेलवे ने सकारात्मक कदम उठाते हुए महिलाओं की यात्रा को आरामदायक बनाया। मध्य रेलवे ने दस ट्रेनों के सेकंड क्लास के डिब्बे की सीटों पर गद्दे लगवाए गए हैं साथ ही और भी 8 ट्रेनों में सीटों को आरामदायक बनाया जायेगा।

सीटों में की गयी तब्दीली 
मध्य रेलवे में 142 ट्रेने रोजाना 1732 चक्कर लगाती हैं। माहिलाओं द्वारा लंबे समय से यात्रा को और सुविधाजनक बनाने की मांग की जा रही थी। इसे देखते हुए मध्य रेलवे रेलवे बोर्ड को पत्र लिखा जिसे रेलवे बोर्ड ने कुछ दिनों बाद मंजूरी दे दी।शुरूआती कार्य में दस लोकल ट्रेनों में महिलाओं के सेकंड क्लास के डिब्बों की सीटों में बदलवा करते हुए उन्हें गद्देदार सीटों में तब्दील किया गया। साथ ही कुछ समय बाद और भी 8 ट्रेनों में यह तब्दीली की जाएगी। इन ट्रेनों में रेलवे बोर्ड के प्रमुख अश्विनी लोहानी ने सोमवार को निरीक्षण किया।

माटुंगा वर्कशॉप में हो रहा है मरम्मत कार्य 
इस बारे में बात करते हुए रेलवे के एक सीनियर अधिकारी के कहा कि जो लोकल ट्रेनें वर्कशॉप में मरम्मत के लिए आती हैं उनमे बदलाव किया जाता है। माटुंगा स्थित वर्कशॉप में इन सीटों को बदलने का कार्य किया जाता है। इस कार्य में लगभग 15 दिन का समय लगता है। आने वाले समय में और भी 8 लोकल ट्रेनों की सीटों में बदलाव किया जाएगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें