इस तरह से होगा मुंबई रेलवे का विकास

 Mumbai
इस तरह से होगा मुंबई रेलवे का विकास

मुंबई - मुंबई उपनगरिय रेलवे सेवा में सुधार करने के लिए मुंबई विकास रेलवे महामंडल द्वारा तैयार किए गए मुंबई नागरी परिवहन प्रकल्प के दूसरे चरण को राज्य सरकार ने मंजूरी दे दी है। साथ ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जानकारी दी की अंधेरी- गोरेगाव हार्बर रेल रुट का काम दिसंबर 2017 तक पूरा कर लिया जाएगा।
ठाणे – दिवा के बीच 5वीं औ 6ठी लाइन का काम मार्च 2019 तक, मुंबई सेंट्रल से बोरीवली 6 लाइनों का काम मार्च 2021 तक, , सीएसटी से कुर्ला के बीच 5वी और 6ठी लाइन का काम मार्च 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा।
इस प्रकल्प का खर्च राज्य सरकार और केंद्र सरकार 50-50 फिसदी के तौर पर उठाएगी। एमयूटीपी 2 प्रकल्प में 5300 करोड़ का खर्च होगा। साथ ही वर्ल्ड बैंक से इस प्रकल्प के लिए 1910 करोड़ रुपये भी दिये गए है। इस प्रकल्प में नोडल एजेंसी के तौर पर मुंबई रेलवे विकास महामंडल राज्य सरकार को 50 फिसदी रकम देगा।

एमयुटीपी-२ के अंतर्गत होंगे ये काम-
- नई उपनगरिय रेलवे खरिदना
- उपनगरिय रेलवे की देखभाल करना
- रेलवे मार्गों को डीसी से एसी में परिवर्तित करना
- अंधेरी -गोरेगांव हार्बर लाईन का विस्तार
- मुंबई सेंट्रल और बोरिवली के बीच 6 लाइनों को बिठाना
- स्टेशनों का सुधार करना
- 12 डब्बों की 72 नई गाड़ियां खरिदना
- इन सभी प्रोजेक्टो के साथ ही बांद्रा- विरार रेल लाइन के लिए 19502 करोड़ का प्रस्ताव रखा गया है। छत्रपती -शिवाजी टर्मिनस- पनवेल फास्ट लोकल के लिए प्रोजेक्ट 14525 करोड़ का प्रस्ताव रखा गया है।

Loading Comments