जमा होते कचरे के कारण मध्य रेलवे ने उठाया यह कदम, आप भी चौंक जाएंगे


SHARE

अब तक आपने रेलवे को ओवर हेड वायर,सिंगल और पटरियों की मरम्मत के लिए हर रविवार को मेगा ब्लॉक की घोषणा करती है लेकिन मध्य रेलवे ने इस बार जो मेगा ब्लॉक घोषित किया है उसका कारण सुनकर आप चौंक ही जाएंगे। दरअसल मध्य रेलवे मार्ग पर इतना सारा कचरा जमा हो गया है कि उसे हटाने के लिए मध्य रेलवे मेगा ब्लॉक घोषित कर रही है।

30 मंजिला ऊंचा कचरे का ढेर

हालांकि जमा हुए कचरे को हटाने का काम मध्य रेलवे तो करती ही है लेकिन रेलवे के अनुसार पटरियों के आसपास लगभग इतना कचरा जमा हो गया है कि अगर उसे जमा करें तो उसकी ऊंचाई 30 मंजिला जितनी होगी। इतनी बड़ी मात्रा में जमा हुए कचरे को हटाने के लिए मध्य रेलवे ने इस बुधवार को ब्लॉक घोषित किया है।

दिवा हादसा कचरे के कारण हुआ था?

आपको बता दें कि इस बुधवार को मध्य रेलवे में एक मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतर गया था। अब रेलवे इस बात की जांच कर रहा है कि क्या कचरे के ही कारण मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतरा था।

कचरे से की जाती है जमीन की भरनी

मध्य रेलवे कचरा उठाने के लिए ही हर दिन चार विशेष गाड़ी चलवाता है, इस कचरे का उपयोग रेलवे मानखुर्द-वाशी और दिवा में बन रह पटरियों की जमीन की भरनी के लिए किया जाता है।

मध्य रेलवे में प्रतिदिन लाखो यात्री यात्रा करते हैं, ये यात्री गुटखा का पाउच, पानी की बोतलोन को पटरियों पर ही फेंक देते हैं, साथ ही रेलवे के आसपास स्थित बस्तियों के कारण भी यह कचरा जमा होता है। इसके फलस्वरूप बारिश में पानी निकल नहीं पाता और पटरियां पानी में डूब जाती हैं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें