Advertisement

मुंबई लोकल को 95 साल पूरे

चार डिब्बों वाली पहली ईएमयू लोकल 3 फरवरी 1925 को तत्कालीन बॉम्बे वीटी स्टेशन (सीएसएमटी) से हार्बर लाइन पर कुर्ला तक चली थी।

मुंबई लोकल को 95 साल पूरे
SHARES
Advertisement

मुंबई की लाइफलाइन(Lifeline) कहलानेवाली मुंबई की लोकल ट्रेन को पूरी दुनियां में जाना जाता है। मुंबई लोकल(Mumbai local) को 95 साल पूरे हो गये है।   चार डिब्बों वाली पहली ईएमयू लोकल 3 फरवरी 1925 को तत्कालीन बॉम्बे वीटी स्टेशन (CSMT) से हार्बर लाइन पर कुर्ला तक चली थी। मुंबई के तत्कालीन गवर्नर सर लेस्ली विल्सन ने हरी झंडी दिखा लोकल को रवाना किया था। मुंबई लोकल ट्रेन के  95 साल पुरे होने के अवसर पर छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर मध्य रेल के मुंबई मंडल के कर्मचारी वीनाधरन ने केक काटा व एक पैम्फलेट जारी किया।


2342 ट्रेन सेवाएं 

मुंबई लोकल  विश्व की सर्वाधिक यात्री घनत्व वाली उपनगरीय रेल सेवा है।464 कि॰मी॰ के मार्ग पर फैली, उपनगरीय सेवा 25000 कि.वोल्ट. .सी की शिरोपरि विद्युत पावर सप्लाई(SUPPLY) पर चालित है। उपनगरीय सेवाएं ई.एम.यू. द्वारा चालित हैं। 171 रेक (ट्रेन-सेट) जिनमें 9-कार तथा 12-कार का समूह है, 2342 ट्रेन सेवाएं चलाने के काम आतीं हैं, जो कि कुल मिलाकर, 6.94 मिलियन यात्रियों को प्रतिदिन लाती-लेजातीं हैं। मौजूदा समय में मध्य रेल के अंतर्गत महाराष्ट्र का अधिकांश, कर्नाटक का उत्तर-पूर्वी क्षेत्र और मध्य प्रदेश का दक्षिणी हिस्सा आता है। 

रेलवे के कई अधिकारी मौजूद

साथ ही सीएसएमटी से विशेष पहली ईएमयू सेवा को 12.30 बजे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।इस अवसर पर मध्य रेल के अपर महाप्रबंधक और प्रधान मुख्य इलेक्ट्रिकल इंजीनियर एस.पी. वावरे, प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर ए.के.गुप्ता, मुख्य विद्युत लोकोमोटिव इंजीनियर अनूप अग्रवाल, मुख्य विद्युत सेवा इंजीनियर मनोज महाजनमुख्य मोटिव पावर इंजीनियर संजीव देशपांडे, मुख्य रोलिंग स्टॉक इंजीनियर (कोचिंग) रूपेश कोहलीअपर मंडल रेल प्रबंधक मुंबई मंडल पीयूष कक्कड़ और एच. जी. तिवारी, एवं मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार उपस्थित थे।

यह भी पढ़े- चार लेन मुंबई-गोवा राजमार्ग का काम इस दिसंबर तक पूरा होगा-नितिन गड़करी

संबंधित विषय
Advertisement