15 डिब्बों की लोकल तो होगी , लेकिन इतने बड़े स्टेशन हर जगह नहीं !

हालही में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मुंबई की सभी लोकल ट्रेनों को 15 डिब्बों की करने का आदेश दिया है।

SHARE

केंद्रिय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मुंबई में रेल अधिकारियों के साथ हुई एक बैठक में अधिकारियों को इस बात का आदेश दिया है की मुंबई की सभी लोकल ट्रेनों को जल्द से जल्द 15 डिब्बों में बदला जाए। अभी मुंबई में 12 डिब्बों और 15 डिब्बों की लोकल ट्रेन चलती है। लेकिन इसके साथ ही अब ये सवाल भी खड़ा हो गया है की अगर सारी ट्रनों को 15 डिब्बों का कर दिया जाएगा तो इन सभी को रोकने के लिए इतने लंबे प्लेटफॉर्म हर स्टेशन पर सही तरह से उपलब्ध नहीं है।

डिब्बों की संख्या - यात्रियों की संख्या
12 डिब्बों की लोकल - 2,400
15 डिब्बों की लोकल - 3,000

मुंबई रेलवे के अधिकारी ने नाम ना बताने की शर्त पर कहा की रेलवेे के पास 15 डिब्बों के लिए पर्याप्त प्लेटफॉर्म है और जिन जगहों पर जरुरत पड़ेगी उन जगहों पर इसके लिए व्यवस्था भी की जाएगी।  

अक्टूबर 2012 से, मध्य रेलवे पर सीएसएमटी से कल्याण तक फास्ट लाइन पर 15 डिब्बों की गाड़िया चलती है। चर्चगेट से विरार तक 15 डिब्बों की फास्ट लोकल को चलाया जाता है। चर्चगेट में 15 डिब्बों की गाड़ियों को खड़ा करने के लिए सिर्फ एक ही प्लेटफॉर्म है। इसके साथ ही चर्चगेट ते मुंबई सेंट्रल तक स्टेशनों की लंबाई भी 15 डिब्बों इतनी नहीं है।

मध्य रेलवे पर कल्याण से खोपोली और कल्याण से कसारा तक 15 डिब्बों की ट्रेनों के लिए कुल 460 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की योजना बनाई जा रही है। इसी तरह, उसने अंधेरी में विरार स्लो कॉरिडोर में पश्चिमी रेलवे के लिए पंद्रह कोच चलाने के लिए 70 करोड़ रुपये की योजना बनाई है। 


यह भी पढ़ेआरे कॉलनी में लगी आग पर पाया गया काबू , किसी के घायल होने की खबर नहीं

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें